Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

राजनीति दलों को मिले विदेशी चंदे की जांच 6 माह के भीतर करें, यह अंतिम मौका- दिल्ली हाईकोर्ट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजनीति दलों को मिले विदेशी चंदे की जांच 6 माह के भीतर करें, यह अंतिम मौका- दिल्ली हाईकोर्ट

नई दिल्ली । दिल्ली हाईकोर्ट ने एक बड़ा फैसला सुनाते हुए केंद्र सरकार को आदेश दिया कि वह छह माह के भीतर भाजपा-कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों के खातों की जांच कर उन्हें मिले विदेशी चंदे का पता लगाए। हालांकि इस दौरान कोर्ट ने केंद्र सरकार के खिलाफ भी सख्त रुख अपनाते हुए इस काम के लिए गृहमंत्रालय को 2014 के फैसले के अनुपालन के लिए अंतिम मौका देने की बात कही। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी हरीशंकर ने इस मामले में अब कोई कौताही न बरते जाने की बात कही। कोर्ट ने कहा कि छह माह के भीतर केंद्र सरकार इन राजनीतिक पार्टियों को विदेशों में मिले विदेशी चंदे के बारे में पता लगाकर ही रहे। 


असल में पूर्व में कोर्ट ने पाया था कि दोनों राजनीतिक दलों ने ब्रिटेन की कंपनी वेदांता रिसोर्सेज की भारतीय कंपनियों से चंदा स्वीकार कर विदेशी मुद्रा कानून का उल्लंघन किया था। एफसीआरए के नियम किसी भी राजनीति दल या विधान मंडल को विदेशी चंदा स्वीकार करने की अनुमति नहीं देते। इस सब के बाद 2014 में कोर्ट ने चुनाव आयोग और गृहमंत्रालय को आदेश दिया ता कि वे सभी राजनीतिक दलों के खातों की जांच कर उन्हें मिले विदेशी चंदे का पता लगाए। 

Todays Beets: