Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर बाल विकास मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय की कल उच्च स्तरीय बैठक  

अंग्वाल संवाददाता
स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर बाल विकास मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय की कल उच्च स्तरीय बैठक  

नई दिल्ली। रेयान इंटरनेशनल स्कूल हत्याकांड के बाद देशभर के स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनिका गांधी और मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेड़कर बुधवार को एक उच्चस्तरीय बैठक आयोजित करेंगे। इस बैठक में राष्ट्रीय बाल सुरक्षा आधिकार आयोग और सीबीएसई, एनसीआरटी और केंद्रीय विद्यालय संगठन हिस्सा लेंगे। 

यह भी पढ़े-  दीपावली पर पटाखों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को दिया एक खास आदेश

 मेनिका गांधी ने प्रकाश जावेड़कर से बातचीत कर बच्चों की स्कूल में सुरक्षा को लेकर कुछ सुझाव भी रखें हैं। साथ ही उन्होंने स्कूल में  सहायक कर्मचारी और बसों में महिलाओं को तैनात करने की बात कहीं है। बच्चों के साथ सेक्सअुल अब्यूज को लेकर उन्होंने जागरूकता फैलाने और इसके खिलाफ कड़े नियम बनाने की बात भी कही। 


 

यह भी पढ़े-  सरकारी स्कूल में क्लास की छत बच्चों के ऊपर गिरी,10 बच्चे घायल

 मेनिका गांधी ने बताया कि इस बैठक को आयोजित करने का एक ही उद्देश्य है कि बच्चों की सुरक्षा के लिए ऐसी गाइडलांइस तैयार की जा सकें, जिनका सभी स्कूलों द्वारा पालन करके बच्चों को सेक्सुअल अब्यूज और मानसिक त्रासदी से बचाया जा सके। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर बच्चों के माता पिता किसी भी स्कूल या टीचर को कुछ भी गलत करते देखते हैं तो वह तुरंत ही चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098 पर शिकायत दर्ज कर सकते हैं।   

Todays Beets: