Friday, November 17, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर बाल विकास मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय की कल उच्च स्तरीय बैठक  

अंग्वाल संवाददाता
स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर बाल विकास मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय की कल उच्च स्तरीय बैठक  

नई दिल्ली। रेयान इंटरनेशनल स्कूल हत्याकांड के बाद देशभर के स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनिका गांधी और मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेड़कर बुधवार को एक उच्चस्तरीय बैठक आयोजित करेंगे। इस बैठक में राष्ट्रीय बाल सुरक्षा आधिकार आयोग और सीबीएसई, एनसीआरटी और केंद्रीय विद्यालय संगठन हिस्सा लेंगे। 

यह भी पढ़े-  दीपावली पर पटाखों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को दिया एक खास आदेश

 मेनिका गांधी ने प्रकाश जावेड़कर से बातचीत कर बच्चों की स्कूल में सुरक्षा को लेकर कुछ सुझाव भी रखें हैं। साथ ही उन्होंने स्कूल में  सहायक कर्मचारी और बसों में महिलाओं को तैनात करने की बात कहीं है। बच्चों के साथ सेक्सअुल अब्यूज को लेकर उन्होंने जागरूकता फैलाने और इसके खिलाफ कड़े नियम बनाने की बात भी कही। 


 

यह भी पढ़े-  सरकारी स्कूल में क्लास की छत बच्चों के ऊपर गिरी,10 बच्चे घायल

 मेनिका गांधी ने बताया कि इस बैठक को आयोजित करने का एक ही उद्देश्य है कि बच्चों की सुरक्षा के लिए ऐसी गाइडलांइस तैयार की जा सकें, जिनका सभी स्कूलों द्वारा पालन करके बच्चों को सेक्सुअल अब्यूज और मानसिक त्रासदी से बचाया जा सके। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर बच्चों के माता पिता किसी भी स्कूल या टीचर को कुछ भी गलत करते देखते हैं तो वह तुरंत ही चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098 पर शिकायत दर्ज कर सकते हैं।   

Todays Beets: