Monday, January 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर बाल विकास मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय की कल उच्च स्तरीय बैठक  

अंग्वाल संवाददाता
स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर बाल विकास मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय की कल उच्च स्तरीय बैठक  

नई दिल्ली। रेयान इंटरनेशनल स्कूल हत्याकांड के बाद देशभर के स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनिका गांधी और मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेड़कर बुधवार को एक उच्चस्तरीय बैठक आयोजित करेंगे। इस बैठक में राष्ट्रीय बाल सुरक्षा आधिकार आयोग और सीबीएसई, एनसीआरटी और केंद्रीय विद्यालय संगठन हिस्सा लेंगे। 

यह भी पढ़े-  दीपावली पर पटाखों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को दिया एक खास आदेश

 मेनिका गांधी ने प्रकाश जावेड़कर से बातचीत कर बच्चों की स्कूल में सुरक्षा को लेकर कुछ सुझाव भी रखें हैं। साथ ही उन्होंने स्कूल में  सहायक कर्मचारी और बसों में महिलाओं को तैनात करने की बात कहीं है। बच्चों के साथ सेक्सअुल अब्यूज को लेकर उन्होंने जागरूकता फैलाने और इसके खिलाफ कड़े नियम बनाने की बात भी कही। 


 

यह भी पढ़े-  सरकारी स्कूल में क्लास की छत बच्चों के ऊपर गिरी,10 बच्चे घायल

 मेनिका गांधी ने बताया कि इस बैठक को आयोजित करने का एक ही उद्देश्य है कि बच्चों की सुरक्षा के लिए ऐसी गाइडलांइस तैयार की जा सकें, जिनका सभी स्कूलों द्वारा पालन करके बच्चों को सेक्सुअल अब्यूज और मानसिक त्रासदी से बचाया जा सके। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर बच्चों के माता पिता किसी भी स्कूल या टीचर को कुछ भी गलत करते देखते हैं तो वह तुरंत ही चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098 पर शिकायत दर्ज कर सकते हैं।   

Todays Beets: