Tuesday, October 23, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

सीमा पर नहीं चलेगी चीन की चालबाजी, नजर रखने के लिए भारत ने तैयार किया खास ड्रोन 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सीमा पर नहीं चलेगी चीन की चालबाजी, नजर रखने के लिए भारत ने तैयार किया खास ड्रोन 

नई दिल्ली। अब सीमा पर चीन की चालाकी नहीं चलेगी। भारत ने इस पर नजर रखने के लिए एक खास ड्रोन विकसित की है। यह ड्रोन न्यू स्पेस रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी नाम के एक स्टार्टअप ने तैयार किया है। बता दें कि इस एयरक्राफ्ट ड्रोन का शोध से लेकर विकास तक का पूरा काम भारत मंे ही किया गया है। इस एयरक्राफ्ट की पहली उड़ान जो हाई एल्टीट्यूड स्यूडो सैटेलाइट की श्रेणी में रखा गया है इसे 2019 में शुरू किए जाने की योजना है।

कई तरह से मददगार

गौरतलब है कि न्यू स्पेस प्रोजेक्ट डेवलपर ने बताया कि ये हाई एल्टीट्यूड ड्रोन एक आदर्श प्लेटफॉर्म देगा जो इंटेलीजेंस, सर्विलांस और रात में बेहतरीन फोटो मुहैया कराएगा। इस ड्रोन की मदद से मिलिट्री इंटेलीजेंस, आपदा प्रबंधन, होमलैंड सिक्योरिटी और स्मार्ट सिटी मैनेजमेंट में काफी मदद करेगा, यही नहीं ये ड्रोन ट्रैफिक नियंत्रित करने से लेकर रोडवे और रेलवे तक के लिए काफी फायदेमंद होगा। हालांकि अभी इसे लेकर काफी चुनौतियां भी हैं। 

ये भी पढ़ें - घोषणा पत्र जारी न करने पर हार्दिक का भाजपा पर वार, कहा- मेरी सीडी बनाने में बिजी थी, घोषणा पत...


सुरक्षा के क्षेत्र में नया मुकाम

आपको बता दें कि करीब 65000 फीट तक तो इसे रिमोट से नियंत्रित किया जा सकेगा लेकिन इसके ऊपर हवा तेज होने की स्थिति में इस पर नियंत्रण रखना एक चुनौती होगी इस पर काम किए जाने की जरूरत है। अगर न्यू स्पेस इस ड्रोन को सफलता पूर्वक बना लेता है तो भारत के पास आने वाले दो दशकों में सबसे अलग ताकत होगी जो भारत को सुरक्षा की दृष्टि से एक नए मुकाम तक पहुंचाने में मदद करेगी।

 

Todays Beets: