Friday, August 17, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

सीमा पर नहीं चलेगी चीन की चालबाजी, नजर रखने के लिए भारत ने तैयार किया खास ड्रोन 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सीमा पर नहीं चलेगी चीन की चालबाजी, नजर रखने के लिए भारत ने तैयार किया खास ड्रोन 

नई दिल्ली। अब सीमा पर चीन की चालाकी नहीं चलेगी। भारत ने इस पर नजर रखने के लिए एक खास ड्रोन विकसित की है। यह ड्रोन न्यू स्पेस रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी नाम के एक स्टार्टअप ने तैयार किया है। बता दें कि इस एयरक्राफ्ट ड्रोन का शोध से लेकर विकास तक का पूरा काम भारत मंे ही किया गया है। इस एयरक्राफ्ट की पहली उड़ान जो हाई एल्टीट्यूड स्यूडो सैटेलाइट की श्रेणी में रखा गया है इसे 2019 में शुरू किए जाने की योजना है।

कई तरह से मददगार

गौरतलब है कि न्यू स्पेस प्रोजेक्ट डेवलपर ने बताया कि ये हाई एल्टीट्यूड ड्रोन एक आदर्श प्लेटफॉर्म देगा जो इंटेलीजेंस, सर्विलांस और रात में बेहतरीन फोटो मुहैया कराएगा। इस ड्रोन की मदद से मिलिट्री इंटेलीजेंस, आपदा प्रबंधन, होमलैंड सिक्योरिटी और स्मार्ट सिटी मैनेजमेंट में काफी मदद करेगा, यही नहीं ये ड्रोन ट्रैफिक नियंत्रित करने से लेकर रोडवे और रेलवे तक के लिए काफी फायदेमंद होगा। हालांकि अभी इसे लेकर काफी चुनौतियां भी हैं। 

ये भी पढ़ें - घोषणा पत्र जारी न करने पर हार्दिक का भाजपा पर वार, कहा- मेरी सीडी बनाने में बिजी थी, घोषणा पत...


सुरक्षा के क्षेत्र में नया मुकाम

आपको बता दें कि करीब 65000 फीट तक तो इसे रिमोट से नियंत्रित किया जा सकेगा लेकिन इसके ऊपर हवा तेज होने की स्थिति में इस पर नियंत्रण रखना एक चुनौती होगी इस पर काम किए जाने की जरूरत है। अगर न्यू स्पेस इस ड्रोन को सफलता पूर्वक बना लेता है तो भारत के पास आने वाले दो दशकों में सबसे अलग ताकत होगी जो भारत को सुरक्षा की दृष्टि से एक नए मुकाम तक पहुंचाने में मदद करेगी।

 

Todays Beets: