Thursday, December 13, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

भारत ने यूएन रिपोर्ट को किया खारिज, कहा- जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार का कोई उल्लंघन नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत ने यूएन रिपोर्ट को किया खारिज, कहा- जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार का कोई उल्लंघन नहीं

नई दिल्ली। भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से जारी रिपोर्ट को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। भारत ने यूएन की रिपोर्ट को पूरी तरह से पक्षपातपूर्ण और बदले की भावना से प्रेरित बताया है। विदेश मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यह रिपोर्ट  पक्षपात से भरी है और यह पूरी तहर से निराधार है। यहां तक कि मंत्रालय ने रिपोर्ट में यूएन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह रिपोर्ट देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सीधा उल्लंघन है। पाकिस्तान ने यूएन की इस रिपोर्ट पर खुशी जाहिर की है।

गौरतलब है कि गुरुवार को यूएन ने एक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा था कि भारत द्वारा पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) और जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार का उल्लंघन किया जा रहा है। इसके साथ ही यूएन ने इस मामले की अंतरराष्ट्रीय जांच कराने की मांग की है। भारत की तरफ से इस रिपोर्ट पर कड़ी आपत्ति जताई गई है। 

ये भी पढ़ें - पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ अब नहीं लड़ पाएंगे चुनाव, सुप्रीम कोर्ट ने लगाया बैन


आपको बता दें कि विदेश मंत्रालय ने इस रिपोर्ट को पूरी तरह से अस्वीकार करते हुए कहा कि यूएन की यह रिपोर्ट पूरी तरह से पक्षपातपूर्ण है और इस रिपोर्ट का कोई आधार नहीं है। भारत की ओर से कहा गया है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग और पीओके की जमीन भी भारत का ही है, पाकिस्तान ने उस पर जबर्दस्ती कब्जा कर रखा है। यहां बता दें कि पाकिस्तान की ओर से यूएन की इस रिपोर्ट पर खुशी जताई है। 

 

Todays Beets: