Monday, June 25, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

भारत ने यूएन रिपोर्ट को किया खारिज, कहा- जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार का कोई उल्लंघन नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत ने यूएन रिपोर्ट को किया खारिज, कहा- जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार का कोई उल्लंघन नहीं

नई दिल्ली। भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से जारी रिपोर्ट को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। भारत ने यूएन की रिपोर्ट को पूरी तरह से पक्षपातपूर्ण और बदले की भावना से प्रेरित बताया है। विदेश मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यह रिपोर्ट  पक्षपात से भरी है और यह पूरी तहर से निराधार है। यहां तक कि मंत्रालय ने रिपोर्ट में यूएन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह रिपोर्ट देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सीधा उल्लंघन है। पाकिस्तान ने यूएन की इस रिपोर्ट पर खुशी जाहिर की है।

गौरतलब है कि गुरुवार को यूएन ने एक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा था कि भारत द्वारा पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) और जम्मू कश्मीर में मानवाधिकार का उल्लंघन किया जा रहा है। इसके साथ ही यूएन ने इस मामले की अंतरराष्ट्रीय जांच कराने की मांग की है। भारत की तरफ से इस रिपोर्ट पर कड़ी आपत्ति जताई गई है। 

ये भी पढ़ें - पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ अब नहीं लड़ पाएंगे चुनाव, सुप्रीम कोर्ट ने लगाया बैन


आपको बता दें कि विदेश मंत्रालय ने इस रिपोर्ट को पूरी तरह से अस्वीकार करते हुए कहा कि यूएन की यह रिपोर्ट पूरी तरह से पक्षपातपूर्ण है और इस रिपोर्ट का कोई आधार नहीं है। भारत की ओर से कहा गया है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग और पीओके की जमीन भी भारत का ही है, पाकिस्तान ने उस पर जबर्दस्ती कब्जा कर रखा है। यहां बता दें कि पाकिस्तान की ओर से यूएन की इस रिपोर्ट पर खुशी जताई है। 

 

Todays Beets: