Tuesday, November 21, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

भारत की इस्लामिक देशों को हिदायत, कश्मीर मामले में किसी बाहरी को दखल देने का हक नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत की इस्लामिक देशों को हिदायत, कश्मीर मामले में किसी बाहरी को दखल देने का हक नहीं

न्यूयॉर्क । अंतरराष्ट्रीय समुदाय में जम्मू-कश्मीर को लेकर अमूमन हल्ला करने वाले पाकिस्तान को यूएन में भारत ने मुंह तोड़ जवाब दिया है। असल में मुस्लिम देशों के संगठन 'ऑर्गनाइजेशन ऑफ द इस्लामिक कॉऑपरेशन' की तरफ से पाकिस्तान ने भारत पर जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार के हनन और कश्मीरियों के आत्मनिर्णय के अधिकार को नकारने का आरोप लगाया था। इस पर भारत ने इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए साफ कर दिया कि OIC को भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का कोई हक नहीं है।

UN में भारत की ओर से दिए गए जवाब में इंडियन परमानेंट मिशन के पहले सचिव डॉक्टर सुमित सेठ ने कहा, 'भारत को अफसोस है कि OIC ने अपने बयान में भारत के अभिन्न और अविभाज्य राज्य जम्मू-कश्मीर से जुड़े गलत और भ्रामक तथ्य शामिल किए हैं, अध्यक्ष जी, मैं इस मंच का इस्तेमाल भारत के जवाब देने के अधिकार के तहत कर रहा हूं। यह जवाब पाकिस्तान के उस बयान के बाद दिया जा रहा है, जो उसने OIC की तरफ से दिया था। भारत ऐसे बयान को पूरी तरह से खारिज करता है। OIC को भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है। हम OIC को सलाह देते हैं कि वह भविष्य में इस तरह की बयानबाजी से बचे।'


बता दें कि OIC 57 देशों का संगठन है जो दुनिया में मुस्लिमों की आवाज बनने के लिए इकट्ठे हुए हैं। OIC की तरफ से पाकिस्तान ने भारत पर जम्मू-कश्मीर राज्य में मानवाधिकार के हनन और कश्मीरियों के आत्मनिर्णय के अधिकार को नकारने का आरोप लगाया था।

Todays Beets: