Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

ब्रिटेन में भारतीय मूल के डॉक्टर ने किया शर्मसार, डॉक्टर पर लगा 118 लोगों के यौन उत्पीड़न का आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ब्रिटेन में भारतीय मूल के डॉक्टर ने किया शर्मसार, डॉक्टर पर लगा 118 लोगों के यौन उत्पीड़न का आरोप

लंदन।

पूरी दुनिया में जहां एक ओर भारतीय अपना परचम लहरा रहे हैं और अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे हैं, वहीं भारतीय मूल के एक डॉक्टर ने ब्रिटेन में देश को शर्मसार करने वाला कारनामा किया है। स्कॉटलैंड यार्ड ने पूर्वी लंदन में भारतीय मूल के एक 47 वर्षीय चिकित्सक मनीष शाह पर 118 यौन अपराधों को अंजाम देने का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़ें— ब्रिटेन में सबसे कम उम्र के डॉक्टर बने भारतीय मूल के अर्पण दोषी, तोड़ा रिकॉर्ड

सूत्रों ने बताया कि यह मामला पूर्वी लंदन के रोम्फोर्ट का है। भारतीय मूल के आरोपी डॉक्टर पर 118 यौन अपराध के मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस के अनुसार, आरोपी डॉक्टर ने 65 लड़कियों से रेप और 52 से छेड़छाड़ की थी। इसमें 13 साल की एक नाबालिग लड़की के साथ रेप का मामला भी सामने आया है।

ये भी पढ़ें— 95 फीसदी भारतीय को है दांतों की बीमारी,रिपोर्ट  में हुआ खुलासा


मेट्रोपोलिटन पुलिस के अनुसार, शाह फिलहाल जमानत पर है। उसे 31 अगस्त को लंदन के बर्किंगसाइट मजिस्ट्रेटी अदालत में पेश होना है। आरोपी ने सभी वारदातों को साल 2004 से 2013 के बीच अंजाम दिया था। 2013 में उसको गिरफ्तार भी किया गया था। इसके बाद आरोपी को कई बार जमानत पर रिहा कर दिया गया। बीते दिन, कोर्ट ने उसे सभी मामलों में दोषी ठहराया।

ये भी पढ़ें— भारत के बच्चों में तेजी से बढ़ रही हैं ब्रेन ट्यूमर की गंभीर बीमारी

 

 

 

Todays Beets: