Wednesday, November 21, 2018

Breaking News

   चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, कोर्ट में किया था सरेंडर     ||   MP में चुनाव प्रचार के दौरान शख्स ने BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला     ||   बेंगलुरु: गन्ना किसानों के साथ सीएम कुमारस्वामी की बैठक     ||   US में ट्रंप को कोर्ट से झटका, अवैध प्रवासियों को शरण देने से नहीं कर सकते इनकार    ||   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||

खुफिया विभाग ने दिल्ली को दहलाने वाले ‘इंडियन प्लांट’ का किया खुलासा, आत्मघाती हमलावर को किया गिरफ्तार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
खुफिया विभाग ने दिल्ली को दहलाने वाले ‘इंडियन प्लांट’ का किया खुलासा, आत्मघाती हमलावर को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। भारतीय खुफिया एजेंसी ने देश की राजधानी को दहलाने की इस्लामिक स्टेट (आईएस) की कोशिशों को नाकाम कर दिया है और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। खबरों के अनुसार भारतीय खुफिया विभाग ने इस अफगान नागरिक को पिछले साल सितंबर में ही गिरफ्तार किया था लेकिन इसका सुरक्षा व्यवस्था के खतरे को देखते हुए इसका खुलासा अब किया है। खुफिया विभाग की जानकारी के अनुसार फिलहाल से अफगानिस्तान के अमेरिकी सैन्य बेस में कैद किया गया है। आईएस ने इस मिशन का नाम ’इंडियन प्लांट’ दिया था।

गौरतलब है कि इस्लामिक स्टेट भारत में भी अपने पैर जमाने की पूरी कोशिश कर रही है। इसके लिए अफगानिस्तान के युवाओं को भर्ती किया जा रहा है और उन्हें आत्मघाती मानव बम बनने की ट्रेनिंग पाकिस्तान में दी जा रही है। खुफिया विभाग की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार आईएस ने करीब 20 अफगान युवाओं को तैयार किया है। इन सभी को पाकिस्तान में हथियार चलाने से लेकर बम धमाका करने की ट्रेनिंग दी गई है। भारत में जिस अफगान नौजवान को भेजा गया था वह अफगानिस्तान के एक बड़े व्यापारी का बेटा था। 

ये भी पढ़ें - Breaking News - बच्चों को मिड डे मील में मिली मरी छिपकली, दिल्ली में सरकारी स्कूल के 20 बच्चे बीमार


यहां बता दें कि आईएस की तरफ से उसके भारत में रहने से खाने तक का हर इंतजाम कर दिया गया था। बताया जा रहा है कि उसने भारत आकर फरीदाबाद के करीब एक निजी काॅलेज में इंजीनियरिंग काॅलेज में दाखिला ले लिया। कुछ दिनों तक हाॅस्टल में रहने के बाद इसने लाजपत नगर में एक मकान किराए पर ले लिया। यहां से यह शख्स दिल्ली के प्रमुख माॅल, सिनेमाघर, रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डे की रेकी की। आईएस ने इस मिशन का नाम ’इंडियन प्लांट’ दिया था। 

गौर करने वाली बात है कि खुफिया विभाग को इस नौजवान पर नजर रखने के लिए 80 लोगों को तैनात करना पड़ा ताकि वह एक पल के लिए भी उनकी नजरों से ओझल न हो सके। खुफिया विभाग की जानकारी के अनुसार इस आतंकी की योजना दिल्ली में एक साथ 12 जगहों पर धमाका करने की थी। इस आतंकी को विभाग ने पिछले साल ही गिरफ्तार कर लिया था लेकिन इसका खुलासा अब किया गया है। बताया जा रहा है कि यह आतंकी इतना प्रभावशाली है कि इससे पूछताछ के बाद अमेरिका को भी तालिबान के खिलाफ कार्रवाई करने में काफी मदद मिली है। खुफिया एजेंसी ने यह भी बताया कि लंदन के मैनचेस्टर में हुए धमाके में भी इसी ग्रुप का हाथ बताया जा रहा है। इन लोगों ने भारत में भी धमाका करने के लिए मैनचेस्टर धमाके में इस्तेमाल किए गए विस्फोटकांे की मांग की गई थी। फिलहाल इस आतंकी को अफगानिस्तान में अमेरिका के सैन्य  बेस में कैदकर रखा गया है। 

 

Todays Beets: