Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

खुफिया विभाग ने दिल्ली को दहलाने वाले ‘इंडियन प्लांट’ का किया खुलासा, आत्मघाती हमलावर को किया गिरफ्तार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
खुफिया विभाग ने दिल्ली को दहलाने वाले ‘इंडियन प्लांट’ का किया खुलासा, आत्मघाती हमलावर को किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। भारतीय खुफिया एजेंसी ने देश की राजधानी को दहलाने की इस्लामिक स्टेट (आईएस) की कोशिशों को नाकाम कर दिया है और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। खबरों के अनुसार भारतीय खुफिया विभाग ने इस अफगान नागरिक को पिछले साल सितंबर में ही गिरफ्तार किया था लेकिन इसका सुरक्षा व्यवस्था के खतरे को देखते हुए इसका खुलासा अब किया है। खुफिया विभाग की जानकारी के अनुसार फिलहाल से अफगानिस्तान के अमेरिकी सैन्य बेस में कैद किया गया है। आईएस ने इस मिशन का नाम ’इंडियन प्लांट’ दिया था।

गौरतलब है कि इस्लामिक स्टेट भारत में भी अपने पैर जमाने की पूरी कोशिश कर रही है। इसके लिए अफगानिस्तान के युवाओं को भर्ती किया जा रहा है और उन्हें आत्मघाती मानव बम बनने की ट्रेनिंग पाकिस्तान में दी जा रही है। खुफिया विभाग की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार आईएस ने करीब 20 अफगान युवाओं को तैयार किया है। इन सभी को पाकिस्तान में हथियार चलाने से लेकर बम धमाका करने की ट्रेनिंग दी गई है। भारत में जिस अफगान नौजवान को भेजा गया था वह अफगानिस्तान के एक बड़े व्यापारी का बेटा था। 

ये भी पढ़ें - Breaking News - बच्चों को मिड डे मील में मिली मरी छिपकली, दिल्ली में सरकारी स्कूल के 20 बच्चे बीमार


यहां बता दें कि आईएस की तरफ से उसके भारत में रहने से खाने तक का हर इंतजाम कर दिया गया था। बताया जा रहा है कि उसने भारत आकर फरीदाबाद के करीब एक निजी काॅलेज में इंजीनियरिंग काॅलेज में दाखिला ले लिया। कुछ दिनों तक हाॅस्टल में रहने के बाद इसने लाजपत नगर में एक मकान किराए पर ले लिया। यहां से यह शख्स दिल्ली के प्रमुख माॅल, सिनेमाघर, रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डे की रेकी की। आईएस ने इस मिशन का नाम ’इंडियन प्लांट’ दिया था। 

गौर करने वाली बात है कि खुफिया विभाग को इस नौजवान पर नजर रखने के लिए 80 लोगों को तैनात करना पड़ा ताकि वह एक पल के लिए भी उनकी नजरों से ओझल न हो सके। खुफिया विभाग की जानकारी के अनुसार इस आतंकी की योजना दिल्ली में एक साथ 12 जगहों पर धमाका करने की थी। इस आतंकी को विभाग ने पिछले साल ही गिरफ्तार कर लिया था लेकिन इसका खुलासा अब किया गया है। बताया जा रहा है कि यह आतंकी इतना प्रभावशाली है कि इससे पूछताछ के बाद अमेरिका को भी तालिबान के खिलाफ कार्रवाई करने में काफी मदद मिली है। खुफिया एजेंसी ने यह भी बताया कि लंदन के मैनचेस्टर में हुए धमाके में भी इसी ग्रुप का हाथ बताया जा रहा है। इन लोगों ने भारत में भी धमाका करने के लिए मैनचेस्टर धमाके में इस्तेमाल किए गए विस्फोटकांे की मांग की गई थी। फिलहाल इस आतंकी को अफगानिस्तान में अमेरिका के सैन्य  बेस में कैदकर रखा गया है। 

 

Todays Beets: