Wednesday, September 20, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

जदयू ने शरद यादव के पर कतरे, राज्यसभा में पार्टी के नेता पद से हटाया, आरसीपी सिंह बने नए नेता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जदयू ने शरद यादव के पर कतरे, राज्यसभा में पार्टी के नेता पद से हटाया, आरसीपी सिंह बने नए नेता

पटना।

जदयू ने अपने वरिष्ठ नेता शरद यादव के बगावती सुर देखते हुए उनके पर कतर दिए हैं। शरद यादव पर कार्रवाई करते हुए पार्टी ने उन्हें राज्यसभा में पार्टी के नेता पद से हटा दिया है। पार्टी ने शरद यादव की जगह आरसीपी सिंह को राज्यसभा में अपना नेता बनाया है। इस बारे में पार्टी की तरफ से उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू को पत्र सौंपा गया है।

ये भी पढ़ें— शरद यादव ने नई पार्टी बनाने को ​लेकर दिया बयान, ​बयान से विपक्ष खासा हैरान

सूत्रों ने बताया कि शनिवार सुबह 10 बजे जदयू के सात राज्य सभा सांसदों, दो लोक सभा सांसदों और राष्ट्रीय महासचिव संजय झा ने उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू से मुलाकात कर पार्टी की ओर से पत्र सौंपा है। वेंकैया नायडू ने जेडीयू के पत्र को स्वीकृति दे दी हैं। राज्यसभा में जदयू के दस सांसद हैं, इनमें कल अली अनवर भी निलंबित किए जा चुके हैं और अब शरद यादव पर भी पार्टी ने ये बड़ी कार्रवाई की है।

ये भी पढ़ें— सोनिया गांधी की बैठक में शामिल होने वाले जदयू सांसद अली अनवर पार्टी से निलंबित

बता दें कि शरद यादव इस समय नीतीश के एनडीए में शामिल होने के फैसले के खिलाफ बिहार के दौरे पर हैं और अपनी रैलियों में नीतीश के फैसले को धोखा बताने से नहीं चूक रहे हैं। हालांकि जेडीयू की ओर से उनको 19 अगस्त को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बुलाया गया है ताकि वह अपना पक्ष रख सकें। अगर शरद यादव राष्ट्रीय  कार्यकारिणी की बैठक में शामिल नहीं होते हैं तो उन्हें पार्टी से निलंबित भी किया जा सकता है।


ये भी पढ़ें— जदयू ने सोनिया गांधी पर लगाया पार्टी को तोड़ने का आरोप, कहा पार्टी में दरार डालने की कोशिश कर...

दिया जा सकता है  कारण बताओ नोटिस

सूत्रों ने बताया कि शरद यादव को जदयू के द्वारा कारण बताओ नोटिस भी जारी किया जा सकता है। यह नोटिस मुख्यमंत्री नीतीश द्वारा बीजेपी के साथ सरकार बनाने के फैसले पर लगातार सवाल उठाने के कारण जारी किया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार, पार्टी सर्वसम्मति से नीतीश कुमार को फैसला लेने के लिए अधिकृत करेगी।

 

 

Todays Beets: