Tuesday, December 18, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

Live-- सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने मुख्य न्यायाधीश पर लगाए कई आरोप, पीएम ने बुलाया कानून मंत्री को

अंग्वाल न्यूज डेस्क
Live-- सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने मुख्य न्यायाधीश पर लगाए कई आरोप, पीएम ने बुलाया कानून मंत्री को

नई दिल्ली। न्यायपालिका के इतिहास में शुक्रवार का दिन ऐतिहासिक रहा। सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने पहली बार पत्रकारों से बातचीत की है। यह मीटिंग जस्टिस चेलामेश्वर के घर पर हुई। इस मीटिंग में जस्टिस चेलामेश्वर, जस्टिस के जोसेफ, जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस मदन लोकुर शामिल थे। पत्रकारों से बात करते हुए जस्टिस चेलामेश्वर ने कहा कि कोर्ट प्रशासन की कार्रवाई सही तरीके से नहीं चल रही है ऐसे में हमने मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर बताया लेकिन बात नहीं सुनी गई। इसके बाद हमारे पास कोई रास्ता नहीं बचा है सिवाय मीडिया के सामने अपनी बात रखने के। इस मामले के सामने आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानून मंत्री को बुलाया है। 


आपको बता दें जस्टिस चेलामेश्वर ने कहा कि हमने मुख्य न्यायाधीश से कोर्ट में चल रही अनियमितता के बारे में बात की थी। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जजों को लेकर भी सवाल उठाते हुए कहा कि उन्हें किस तरह से केस दिए गए। उनका कहना है कि हम नहीं चाहते हैं कि हमारे किसी भी निर्णय पर 20 सालों के बाद सवाल उठाया जाए कि हमने अपनी आत्मा को बेच दिया और देश के संविधान का कोई ध्यान नहीं रखा। जस्टिस चेलामेश्वर ने कहा कि मुख्य न्यायाधीश के बारे में देश को फैसला करना चाहिए। बता दें कि जस्टिस चेलामेश्वर सुप्रीम कोर्ट के दूसरे सबसे वरिष्ठ जज हैं।  

Todays Beets: