Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

LIVE: कर्नाटक के राजनीतिक भविष्य पर 'सुप्रीम' मुहर, 28 घंटे के अंदर बहुमत साबित करे भाजपा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
LIVE: कर्नाटक के राजनीतिक भविष्य पर

नई दिल्ली। कर्नाटक की राजनीति के भविष्य का फैसला शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने कर दिया है।  कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि येदियुरप्पा की सरकार को शनिवार शाम 4 बजे  करने का आदेश दिया है।  दोनों ही पार्टियों की तरफ से पेश हुए वकील ने अपनी-अपनी दलीलें दी हैं। कांग्रेस की तरफ से पेश हुए अभिषेक मनु सिंघवी ने राज्यपाल के फैसले पर ही सवाल उठा दिया और कहा कि जब उनके पास बहुमत नहीं था तो सरकार बनाने की न्योता कैसे दिया गया? सुप्रीम कोर्ट ने इस पर भी सवाल पूछा कि येदियुरप्पा को न्योता कैसे दिया गया, इस पर भाजपा की तरफ से पेश हुए वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि राज्यपाल ने अपने विवेकाधिकार का इस्तेमाल करते हुए भाजपा को निमंत्रण दिया  था।

ये भी पढ़ें - कर्नाटक राजनीतिः भाजपा से डरी कांग्रेस और जेडीएस, विधायकों को बंगलुरु से हैदराबाद किया शिफ्ट


गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा कि हमकोई राजनीतिक लड़ाई में नहीं पड़ रहे हैं। जस्टिस सीकरी ने अपनी टिप्पणी में कहा कि विवाद को आगे बढ़ाने से बेहतर है कि बहुमत का परीक्षण कल ही हो। जस्टिस बोवडे ने भी यह कहा कि जिसे बहुमत मिला है वह बहुमत साबित करे। उन्होंने कहा कि आखिरी फैसला विधानसभा में ही होना चाहिए। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के द्वारा दिए गए आदेश के बाद अब येदियुरप्पा को 24 घंटे के अंदर बहुमत साबित करना होगा। सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस और जेडीएस के विधायक ने कहा कि वे कल भी बहुमत परीक्षण के लिए तैयार हैं। वहीं भाजपा के वकील मुकुल रोहतगी ने इसके लिए कम से कम एक सप्ताह का समय देने की मांग की थी। 

Todays Beets: