Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

जेडीएस को बाहर के समर्थन देंगी कांग्रेस, शाम 5 बजे राज्यपाल को इस्तीफा देंगे सिद्धरमैया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जेडीएस को बाहर के समर्थन देंगी कांग्रेस, शाम 5 बजे राज्यपाल को इस्तीफा देंगे सिद्धरमैया

नई दिल्ली । कांग्रेस ने मंगलवार दोपहर कर्नाटक चुनावों में अपना अंतिम दांव खेलते हुए देवगौड़ा की पार्टी जनता दल (एस) को बाहर से समर्थन देने का ऐलान किया है। कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन का ऐलान करते हुए कहा कि वह राज्य में जेडीएस की सरकार बनाने के लिए तैयार हैं। कर्नाटक की सत्ता से भाजपा को दूर रखने के लिए कांग्रेस की इस अंतिम रणनीति पर भाजपा की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। जबकि भाजपा पूर्ण बहुमत से सिर्फ कुछ सीटें पीछे नजर आ रही है। ऐसे में कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन देते हुए भाजपा को सत्ता से बाहर रखने की रणनीति बनाई है। इस सब के बीच शाम 5 बजे सिद्धरमैया राज्यपाल को अपना इस्तीफा देंगे। इस सब से इतर जेडीएस ने भी अभी तक इस पूरे घटनाक्रम पर अपने पत्ते नहीं खोले हैं। जबकि भाजपा ने भी मोर्चा बंदी शुरू कर दी है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने आगे की रणनीति को अंजाम देने के लिए धर्मेंद्र प्रधान, जेपी नड्डा और प्रकाश जावड़ेकर को बेंगलुरू जाने के निर्देश दे दिए हैं। 

बता दें कि अभी तक मौजूद आंकड़ों के अनुसार विधानसभा चुनावों में पूर्ण बहुमत से पीछे रहने के चलते यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने गुलाम नबीं आजाद को निर्देश दिए थे कि वह सरकार गठन के लिए देवगौड़ा से बात करें। इसके बाद राज्य कांग्रेस ने एक बैठक कर जेडीएस को बाहर से समर्थन देने का ऐलान कर डाला। राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने अपने पद से इस्तीफा देने से पहले ऐलान कर दिया कि वह जेडीएस को बाहर से समर्थन देने के लिए तैयार हैं। राज्य की सत्ता से भाजपा को दूर रखने के लिए कांग्रेस ने जो रणनीति अपनाई , कहीं न कहीं पिछले कुछ चुनावों में इस रणनीति पर भाजपा ने कांग्रेस को पटखनी दी हुई है। 

ये भी पढ़ें - पीएम के दौरे से पहले पाक की ‘नापाक’ हरकत, सांबा में तोड़ा सीजफायर, बीएसएफ का 1 जवान शहीद

बहरहाल, अभी जेडीएस के देवगौड़ा और कुमार स्वामी की ओर से इस मुद्दे पर अभी तक कोई बयान नहीं आया है। न ही इस मुद्दे पर भाजपा ने ही अपने पत्ते खोले हैं। लेकिन पार्टी ने अपने तीन दिग्गज नेताओं को बेंगलुरू के लिए रवाना कर दिया है। खबरों के अनुसार, कुछ देर में नड्डा, जावड़ेकर और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान बेंगलुरू के लिए रवाना होंगे। वहीं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के घर आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए रविशंकर प्रसाद पहुंच गए हैं।


ये भी पढ़ें -  मुस्लिम समुदाय ने भा कर्नाटक चुनाव में भाजपा पर दिखाया भरोसा, जातिगत समीकरण पूरी तरह फेल

जहां कांग्रेस पूरी तरह से सरेंडर करते हुए जेडीएस को समर्थन देने के लिए तैयार हो गई है, वहीं भाजपा 107 के करीब अटकती नजर आ रही है। जबकि पूर्ण बहुमत  का आंकड़ा 112 का है। ऐसे में अभी इस चुनावी दंगल में अंतिम दौर की 'लड़ाई' बाकी है।

ये भी पढ़ें -  सोनिया ने देवगौड़ा से बात करने के लिए गुलाम नबी आजाद को दिए निर्देश, पुरानी गलती नहीं दोहराना चाहते

Todays Beets: