Friday, September 21, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

जेडीएस को बाहर के समर्थन देंगी कांग्रेस, शाम 5 बजे राज्यपाल को इस्तीफा देंगे सिद्धरमैया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जेडीएस को बाहर के समर्थन देंगी कांग्रेस, शाम 5 बजे राज्यपाल को इस्तीफा देंगे सिद्धरमैया

नई दिल्ली । कांग्रेस ने मंगलवार दोपहर कर्नाटक चुनावों में अपना अंतिम दांव खेलते हुए देवगौड़ा की पार्टी जनता दल (एस) को बाहर से समर्थन देने का ऐलान किया है। कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन का ऐलान करते हुए कहा कि वह राज्य में जेडीएस की सरकार बनाने के लिए तैयार हैं। कर्नाटक की सत्ता से भाजपा को दूर रखने के लिए कांग्रेस की इस अंतिम रणनीति पर भाजपा की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। जबकि भाजपा पूर्ण बहुमत से सिर्फ कुछ सीटें पीछे नजर आ रही है। ऐसे में कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन देते हुए भाजपा को सत्ता से बाहर रखने की रणनीति बनाई है। इस सब के बीच शाम 5 बजे सिद्धरमैया राज्यपाल को अपना इस्तीफा देंगे। इस सब से इतर जेडीएस ने भी अभी तक इस पूरे घटनाक्रम पर अपने पत्ते नहीं खोले हैं। जबकि भाजपा ने भी मोर्चा बंदी शुरू कर दी है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने आगे की रणनीति को अंजाम देने के लिए धर्मेंद्र प्रधान, जेपी नड्डा और प्रकाश जावड़ेकर को बेंगलुरू जाने के निर्देश दे दिए हैं। 

बता दें कि अभी तक मौजूद आंकड़ों के अनुसार विधानसभा चुनावों में पूर्ण बहुमत से पीछे रहने के चलते यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने गुलाम नबीं आजाद को निर्देश दिए थे कि वह सरकार गठन के लिए देवगौड़ा से बात करें। इसके बाद राज्य कांग्रेस ने एक बैठक कर जेडीएस को बाहर से समर्थन देने का ऐलान कर डाला। राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने अपने पद से इस्तीफा देने से पहले ऐलान कर दिया कि वह जेडीएस को बाहर से समर्थन देने के लिए तैयार हैं। राज्य की सत्ता से भाजपा को दूर रखने के लिए कांग्रेस ने जो रणनीति अपनाई , कहीं न कहीं पिछले कुछ चुनावों में इस रणनीति पर भाजपा ने कांग्रेस को पटखनी दी हुई है। 

ये भी पढ़ें - पीएम के दौरे से पहले पाक की ‘नापाक’ हरकत, सांबा में तोड़ा सीजफायर, बीएसएफ का 1 जवान शहीद

बहरहाल, अभी जेडीएस के देवगौड़ा और कुमार स्वामी की ओर से इस मुद्दे पर अभी तक कोई बयान नहीं आया है। न ही इस मुद्दे पर भाजपा ने ही अपने पत्ते खोले हैं। लेकिन पार्टी ने अपने तीन दिग्गज नेताओं को बेंगलुरू के लिए रवाना कर दिया है। खबरों के अनुसार, कुछ देर में नड्डा, जावड़ेकर और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान बेंगलुरू के लिए रवाना होंगे। वहीं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के घर आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए रविशंकर प्रसाद पहुंच गए हैं।


ये भी पढ़ें -  मुस्लिम समुदाय ने भा कर्नाटक चुनाव में भाजपा पर दिखाया भरोसा, जातिगत समीकरण पूरी तरह फेल

जहां कांग्रेस पूरी तरह से सरेंडर करते हुए जेडीएस को समर्थन देने के लिए तैयार हो गई है, वहीं भाजपा 107 के करीब अटकती नजर आ रही है। जबकि पूर्ण बहुमत  का आंकड़ा 112 का है। ऐसे में अभी इस चुनावी दंगल में अंतिम दौर की 'लड़ाई' बाकी है।

ये भी पढ़ें -  सोनिया ने देवगौड़ा से बात करने के लिए गुलाम नबी आजाद को दिए निर्देश, पुरानी गलती नहीं दोहराना चाहते

Todays Beets: