Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

अब कभी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे श्रीसंत, हाईकोर्ट ने आजीवन प्रतिबंध बरकरार रखा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब कभी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे श्रीसंत, हाईकोर्ट ने आजीवन प्रतिबंध बरकरार रखा

नई दिल्ली। कभी भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे तेज गेंदबाज श्रीसंत अब कभी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे। केरल उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने 2013 आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में क्रिकेटर एस श्रीसंत पर भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को बरकरार रखा है। केरल हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश नवनीति प्रसाद सिंह और न्यायमूर्ति राजा विजयरावन की पीठ ने एकल न्यायाधीश की पीठ के खिलाफ बीसीसीआई की याचिका पर यह फैसला सुनाया।

एकलपीठ के फैसले को पलटा

यहां बता दें कि इससे पहले न्यायमूर्ति ए मोहम्मद मुश्ताक की एकल पीठ ने 7 अगस्त को श्रीसंत पर लगे बीसीसीआई के आजीवन प्रतिबंध को हटा दिया था और बोर्ड द्वारा उनके खिलाफ चलाई जा रही सभी तरह कार्यवाही पर भी रोक लगा दी थी। संयुक्त खंडपीठ ने अपने फैसले में एकल पीठ के फैसले को रद्द करते हुए कहा कि खेल के साथ न्याय नहीं हुआ। गौरतलब है कि बीसीसीआई ने सबूतों के आधार पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था।  


ये भी पढ़ें - ताजमहल विवाद में कूदे एक और भाजपा नेता, कहा-मंदिर तोड़कर मजार बनवा दिया

इन पर भी लगे आरोप 

स्पाॅट फिक्सिंग के मामले में साल 2015 में पटियाला हाउस कोर्ट ने अंकित चव्हाण और अजित चंदीला समेत 36 आरोपियों को आपराधिक मामले से बरी कर दिया था।  आपको बता दें कि श्रीसंत ने 2015 में अपना पहला एकदिवसीय मैच श्रीलंका के खिलाफ खेला था जबकि पहला टेस्ट मैच 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था।   

Todays Beets: