Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

स्थिति का जायजा लेने सबरीमाला पहुंचे मंत्री, कहा-भक्त कोई आतंकी नहीं, इतनी पुलिस की क्या जरूरत? 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्थिति का जायजा लेने सबरीमाला पहुंचे मंत्री, कहा-भक्त कोई आतंकी नहीं, इतनी पुलिस की क्या जरूरत? 

नई दिल्ली। सबरीमाला मंदिर को लेकर चल रहे विवाद के बीच स्थिति का जायजा लेने केंद्रीय मंत्री के जे अल्फोंस सोमवार की सुबह केरल पहुंचे। इससे पहले रविवार की रात को ही बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने राज्य के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के आवास का घेराव कर लिया था। पुलिस ने कई श्रद्धालुओं को गिरफ्तार भी किया था। गौर करने वाली बात है कि मंदिर में महिला श्रद्धालुओं के प्रवेश के विरोध को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। मंदिर के बाहर पूरे इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है। राज्य सरकार पर कटाक्ष करते हुए मंत्री केजे अल्फोंस ने कहा कि सबरीमाला मंदिर में स्थिति पूरी तरह से बदतर हो गई है। उन्होंने कहा कि भक्त कोई आतंकी नहीं है ऐसे में इतनी पुलिस की क्या आवश्यकता है?

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के द्वारा सबरीमाला मंदिर में महिला भक्तों के प्रवेश पर लगी रोक को हटाने के बाद भी इसका भारी विरोध किया गया। पिछले दिनों महिलाओं द्वारा जबरन मंदिर के अंदर प्रवेश करने के दौरान कई घायल हो गए।   मुख्यमंत्री आवास पर विरोध जताने गए श्रद्धालुओं की गिरफ्तारी के बाद केरल के कई पुलिस थानों, आयुक्त कायार्लयों में प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन किया। केरल के तिरुवनंतपुरम, आलप्पुषा, एनार्कुलम, पत्तनमत्तिट्टा, कोझीकोड जिलों में प्रदर्शनकारियों में आधी रात को कई जगहों पर प्रार्थना सभाएं आयोजित की।

ये भी पढ़ें - डिफाॅल्टरों के नाम सार्वजनिक नहीं करने पर सीआईसी सख्त, पीएमओ और आरबीआई को लगाई फटकार


यहां बता दें कि अब सबरीमाला कर्म समिति सरकार के खिलाफ आंदोलन को तेज करने की योजना बना रही है। समिति का आरोप है उच्चतम न्यायालय द्वारा सभी उम्र की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश की अनुमति के आदेश के नाम पर उनके रीति-रिवाज और परंपराओं को नष्ट किया गया है। ऐसे में समिति के द्वारा इस आदेश का पूरजोर तरीके से विरोध किया जाएगा। 

 

Todays Beets: