Saturday, April 21, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

बिरसा मुंडा जेल में बंद लालू की हालत फिर बिगड़ी, दिल्ली एम्स किया जाएगा रेफर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बिरसा मुंडा जेल में बंद लालू की हालत फिर बिगड़ी, दिल्ली एम्स किया जाएगा रेफर

नई दिल्ली। चारा घोटाले में रांची के बिरसा मुंडा जेल में बंद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की तबीयत अचानक फिर से बिगड़ गई है। अस्पताल प्रशासन द्वारा उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल रेफर किया जा सकता है। फिलहाल उनका इलाज राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में चल रहा है। रिम्स के 8 डाॅक्टर लालू प्रसाद की देखभाल कर रहे हैं। आरआईएमएस के अधीक्षक डॉक्टर एसके चौधरी ने बताया  कि मेडिकल बोर्ड ने लालू प्रसाद को एम्स दिल्ली भेजने की सिफारिश की है। उन्होंने कहा कि बुधवार को उन्हें एम्स के लिए रेफर किया जा सकता है। 

गौरतलब है कि शनिवार को सीबीआई की विशेष अदालत ने दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में फैसला टाल दिया गया था। इसके बाद ही उनकी तबीयत बिगड़ गई थी और उन्हें रिम्स में भर्ती कराया गया था। अब इस मामले में उन्हें दोषी करार दिया जा चुका है। 

ये भी पढ़ें - कोयंबटूर में भाजपा जिला सचिव पर पेट्रोल बम से हमला, पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी


बता दें कि लालू प्रसाद को चारा घोटाले से जुड़े तीन मामलों में उन्हें पहले ही दोषी करार दिया गया है। गौर करने वाली बात है कि दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में लेखाकार जनरल (1990 के दशक) के तीन अधिकारियों को मामले में पार्टी बनाए जाने की मांग की गई थी। सीबीआई की विशेष अदालत के न्यायाधीश शिवपाल सिंह ने शुक्रवार को उक्त याचिका स्वीकार कर ली थी। 

गौरतलब है कि इस मामले में लालू प्रसाद यादव और जगन्नाथ मिश्रा के अलावा 29 अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया है। आरोपियों में पूर्व आईएएस अधिकारी और पशुपालन अधिकारी भी शामिल हैं। इससे पहले अदालत द्वारा चारा घोटाले के तीन मामलों में राजद प्रमुख लालू प्रसाद को और दो मामलों में जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया जा चुका है।

Todays Beets: