Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

भारी बारिश से सिक्किम में भारी भूस्खलन, 2 इलाकों को जोड़ने वाला पुल टूटा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारी बारिश से सिक्किम में भारी भूस्खलन, 2 इलाकों को जोड़ने वाला पुल टूटा 

गंगटोक। उत्तरपूर्वी राज्यों में भी मौसम का कहर जारी है। सिक्किम में लगातार हो रही भारी बारिश से पहाड़ों से भूस्खलन ने लोगों की परेशानियों को काफी इजाफा कर दिया है। भूस्खलन से गंगटोक समेत कई जगहों पर सड़क संपर्क टूट गया। एक वरिष्ठ जिला अधिकारी ने बताया कि उत्तर जिले में द्जोंगु, मंगन, लाचेन और मंगशिला में भूस्खलन हुए। राफोंग खेला में एक पुल बह जाने के बाद मंगन और चुंगथांग को जोड़ने वाली सड़क भी टूट गई। अम्बिथांग झरना उफान पर है जिससे पुलियों और तूंग के समीप नवनिर्मित बैली पुल को भी नुकसान पहुंचा है। द्जोंगु में कई स्थानों पर भूस्खलन से सड़क नेटवर्क भी प्रभावित हुआ है। 

गौरतलब है कि सिक्किम में हो रहे भूस्खलन से करीब 50 मकान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। उन मकानों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगह पर जाने के निर्देश दिए गए हैं। कई इलाकों को जोड़ने वाली सड़कें भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त है। प्रशासन के आला अधिकारियों को मौके पर भेजा गया है। लगातार भूस्खलन के चलते स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया गया है। 

ये भी पढ़ें - LIVE - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहाड़गंज के स्कूल में लगाई झाड़ू, देश की जनता से फिर किया...


यहां आपको बता दें कि भूस्खलन के चलते बंद हुए सड़कों को सीमा सड़क संगठन उसे दोबारा बहाल करने के लिए काम कर रहा है। अधिकारी ने बताया कि भूस्खलन से प्रभावित लोगों को नियमों के अनुसार राहत और अनुग्रह राशि दी जाएगी। उत्तर सिक्किम में भारी बारिश के कारण सिंगतम और रांगपो जैसे निचले इलाकों में जलस्तर बढ़ने की आशंका के कारण नागरिक सुरक्षा एजेंसियों, स्वयंसेवकों और जनता को अलर्ट कर दिया गया है।  

 

Todays Beets: