Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

गोरखपुर महोत्सव में मालिनी अवस्थी और रविकिशन के कार्यक्रम में भीड़ हुई बेकाबू, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गोरखपुर महोत्सव में मालिनी अवस्थी और रविकिशन के कार्यक्रम में भीड़ हुई बेकाबू, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

नई दिल्ली। उत्तरप्रदेश सरकार के गोरखपुर महोत्सव में देर रात दर्शकों की भीड़ को काबू में लानग के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। बता दें कि शुक्रवार की रात लोक कलाकार मालिनी अवस्थी और फिल्म अभिनेता रविकिशन का कार्यक्रम था। दोनों के कार्यक्रम के दौरान दर्शक बेकाबू हो गए जिसे नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। बता दें कि आज शनिवार को इस महोत्सव का समापन होगा जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शिरकत करेंगे। 

कार्यक्रम के दौरान अभद्र टिप्पणी

गौरतलब है कि गोरखपुर महोत्सव में भोजपुरी गायक एवं अभिनेता रवि किशन ‘जिया हो बिहार के लाला’ गाने की प्रस्तुति दे रहे थे और मंच पर भोजपुरी गायिका मालिनी अवस्थी भी मौजूद थीं, उसी दौरान एक दर्शक ने अपना मोबाइल कैमरा ऑन किया और कलाकारों पर अभद्र टिप्पणी भी की। इसके बाद मामला बढ़ने पर पुलिस को इसमें दखल देना पड़ा। 

ये भी पढ़ें -चीफ जस्टिस विवाद पर राहुल गांधी के घर 'मंथन बैठक' शुरू, डी राजा जस्टिस चेमलेश्वर के घर मिलने पहुंचे

गोरखपुर महोत्सव का उद्देश्य


यहां बता दें कि यूपी सरकार का मकसद गोरखपुर महोत्सव के जरिए गोरखपुर और आसपास के जिलों में पर्यटन और सांस्कृतिक धरोहरों को बढ़ावा देना है। सरकार के अधिकारियों के अनुसार गोरखपुर महोत्सव हर साल मनाया जाता है लेकिन इस बार इसे बड़े पैमाने पर किया गया क्योंकि गोरखपुर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शहर है।

गोरखपुर महोत्सव पर विपक्ष का वार

उत्तर प्रदेश सरकार के सांस्कृतिक विभाग में इसके लिए 35 लाख रुपए का बजट रखा है। विपक्ष ने योगी सरकार के इस महोत्सव पर सवाल उठाते हुए कहा कि पहले तो भाजपा सैफई महोत्सव की बुराई करती थी और अब खुद भी उसी राह चल रही है।

 

Todays Beets: