Wednesday, December 19, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांडः आरोपी द्वारा संबंध को स्वीकार करने के बाद मंजू वर्मा ने दिया इस्तीफा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांडः आरोपी द्वारा संबंध को स्वीकार करने के बाद मंजू वर्मा ने दिया इस्तीफा

पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के बयान के बाद महिला समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि बालिका गृह का संचालक ब्रजेश ठाकुर ने कहा कि वह मंजू वर्मा के पति चंद्रेश्वर वर्मा को जानता है और उससे कई बार फोन पर राजनीतिक मुद्दों को लेकर बातें हुई हैं। यहां बता दें कि इससे पहले मंजू वर्मा पहले से यह कहती रहीं हैं कि उनके पति का ब्रजेश ठाकुर से कोई संबंध नहीं है और उन्हें फंसाया जा रहा है।

गौरतलब है कि पति के नाम का खुलासा होने के बाद मंत्री मंजू वर्मा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर अपना इस्तीफा दे दिया। यहां बता दंे कि बालिका गृह यौन शोषण कांड में मंजू वर्मा के पति के ब्रजेश ठाकुर से संबंध जाहिर होने के बाद उनके इस्तीफे की मांग लगातार कर रही थीं। 

ये भी पढ़ें - चेंबूर के भारत पेट्रोलियम प्लांट में लगी भीषण आग, दमकल की 7 गाड़ियां आग पर काबू पाने में जुटी


यहां बता दें कि सीबीआई की जांच मंें इस बात का पता चला कि जनवरी से मई के बीच ब्रजेश ठाकुर और चंद्रेश्वर वर्मा के बीच 17 बार बात हुई थी। ब्रजेश ठाकुर ने कहा कि उनसे राजनीतिक मुद्दों पर कई बार बात हुई थी।  इस मामले में लगातार विपक्ष के द्वारा उनके इस्तीफे की मांग की जा रही थी। गौर करने वाली बात है कि कुछ ही दिनों पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि किसी भी व्यक्ति को अकारण ही जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।  

 

Todays Beets: