Friday, December 14, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

जैश-ए-मोहम्मद का सरगना पड़ा बिस्तर पर, पाकिस्तान के मिलिट्री अस्पताल में हो रहा इलाज!

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जैश-ए-मोहम्मद का सरगना पड़ा बिस्तर पर, पाकिस्तान के मिलिट्री अस्पताल में हो रहा इलाज!

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के साथ ही देश के कई हिस्सों में आतंकी वारदातों को अंजाम देने वाले संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना अजहर मसूद के गंभीर तौर पर बीमार होने की खबर है। खबरों के अनुसार मसूद अजहर रीढ़ की हड्डी और गुर्दे की बीमारी से जूझ रहा है और पाकिस्तानी से मिली खुफिया जानकारी के अनुसार उसका इलाज रावलपिंडी के कंबाइंड मिलिटरी अस्पताल में किया जा रहा है। एक जानकारी के अनुसार इन बीमारियों से पूरी तरह से ठीक होने में करीब डेढ़ साल का समय लग सकता है। ऐसे में डाॅक्टरों ने उसे बिस्तर पर ही रहने की सलाह दी है।

गौरतलब है कि आतंकी वारदातों के लिहाज से यह भारत के लिए एक अच्छी खबर मानी जा सकती है। हालांकि जैश-ए-मोहम्मद के सरगना ने अपने कामों का बंटवारा अपने छोटे भाइयों के बीच कर दिया है। गौर करने वाली बात है कि संयुक्त राष्ट्र ने भी मसूद को एक वैश्विक आतंकी घोषित कर चुका है। बता दें कि भारतीय राजनयिकों ने उसके बीमार होने और अस्पताल में भर्ती होने की खबरों की पुष्टि नहीं कर रहे हैं। 


ये भी पढ़ें - वाराणसी में PM मोदी को जितवाने वालों को गुजरात में निशाना बनाकर पीटा जा रहा है -  मायावती

गौर करने वाली बात है कि जानकारों का मानना है कि अजहर को वैश्विक आतंकी वाली बात पर चीन हमेशा से ही रोड़े अटकाता रहा है। अब भारत को इसके लिए चीन से रियायत की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि आतंकी तो खुद कई बीमारियों से पीड़ित हो चुका है। बता दें कि भारत की ओर से साल 2001 में संसद हमले, 2005 में अयोध्या में और 2016 में पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले के लिए अजहर मसूद को जिम्मेदार ठहराया है।

Todays Beets: