Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

कांग्रेस-बसपा में बढ़ने लगी दूरी!, कहा-महंगाई के मुद्दे पर भाजपा और कांग्रेस एक ही थाली के चट्टे-बट्टे 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेस-बसपा में बढ़ने लगी दूरी!, कहा-महंगाई के मुद्दे पर भाजपा और कांग्रेस एक ही थाली के चट्टे-बट्टे 

नई दिल्ली। बढ़ती महंगाई और पेट्रोल -डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों पर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने केन्द्र सरकार के साथ ही कांग्रेस पर निशाना साधा है। मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि महंगाई के मुद्दे पर भाजपा और कांग्रेस दोनों एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि मौजूदा सरकार अपने उद्योगपति दोस्तों को नाराज नहीं करना चाहती है और यही काम सरकार में रहते हुए कांग्रेस भी कर रही थी। यहां गौर करने वाली बात है कि लोकसभा चुनाव से पहले मायावती के द्वारा दिए गए इस बयान ने राजनीतिक गलियारों में एक बार फिर से हलचल पैदा कर दी है।

गौरतलब है कि सोमवार को कांग्रेस के द्वारा बुलाए गए भारत बंद में 21 दलों का समर्थन होने का दावा किया गया था लेकिन बहुजन समाजवादी पार्टी का कोई भी नेता इस बंद में शामिल नहीं हुआ। बता दें कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में कई विपक्षी दलों के नेताओं ने सोमवार को पैदल मार्च किया था। इस बंद के दौरान देश के कई हिस्सों से हिंसा और तोड़फोड़ की खबरें आई थी।

ये भी पढ़ें - पीएनबी को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाले मेहुल चोकसी ने आत्मसमर्पण से किया इंकार, सीबीआई और ...


यहां बता दें कि बसपा सुप्रीमो ने प्रेस कांफ्रेंस कर भाजपा और कांग्रेस दोनों पर ही आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि महंगाई के मुद्दे पर दोनों की पार्टियों की एक ही नीति है। मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम कर अपने उद्योगपति दोस्तों को नाराज नहीं करना चाहती है। उन्होंने कहा कि फिलहाल इसका विरोध कर रही कांग्रेस भी सरकार में रहने के दौरान यही चीजें कर रही थी। मायावती ने कहा कि एनडीए सरकार का कहना है कि तेल की बढ़ती कीमतों पर वह कुछ भी नहीं कर सकती है यह बिल्कुल गलत है, अगर सरकार चाहे तो इस पर काबू पाया जा सकता है। 

 

गौर करने वाली बात है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद एक मंच पर मायावती और सोनिया गांधी के बीच कम होती दूरियों को कांग्रेस के लिए अच्छा माना जा रहा था लेकिन मायावती के इस बयान के बाद राजनीतिक गलियारों में पार्टी से उसकी तल्खी सामने आ गई है। मायावती ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसने देश की जनता को लाचार कर दिया है।  

Todays Beets: