Saturday, October 20, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

मुस्लिम संगठन पटना में केन्द्र सरकार के खिलाफ करेंगे महारैली, कहा-इस्लाम खतरे में 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुस्लिम संगठन पटना में केन्द्र सरकार के खिलाफ करेंगे महारैली, कहा-इस्लाम खतरे में 

पटना। भाजपा सरकार के प्रयासों के बाद सुप्रीम कोर्ट द्वारा तीन तलाक को अवैध करार देने के बाद  मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। केन्द्र सरकार पर जबरन कड़े नियमों को थोपने का आरोप लगाते हुए ‘इमारत शरिया’ की ओर से 15 अप्रैल को पटना में महारैली के आयोजन का फैसला लिया है। बताया जा रहा है कि इस रैली में करीब 3 लाख मुसलमान शामिल हो सकते हैं। मुस्लिम संगठनों का मानना है कि इस सरकार के राज में इस्लाम खतरे में है और इसे बचाने के लिए मुस्लिम संगठनों को आगे आने की जरूरत है।

गौरतलब है कि इमारत शरिया की ओर से आयोजित की जाने वाली इस महारैली का उद्देश्य ‘दीन बचाओ, देश बचाओ’ रखा गया है। इसमें सिर्फ बिहार ही नहीं बल्कि झारखंड और ओडिशा से भी मुसलमानों के पहुंचने की संभावना है। मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे उन्हें पिछले 4 सालों से देख रहे हैं। वे भले ही शासन चलाना सीख लें लेकिन उनकी व्यवस्था ठीक नहीं है। 

ये भी पढ़ें - प्रधानमंत्री आज जाएंगे छत्तीसगढ़, ग्राम स्वराज अभियान की होगी शुरुआत, सुरक्षा के कड़े इंतजाम


यहां बता दें कि उनका मानना है सरकार जबर्दस्ती उनके धर्म के मामले में दखल दे रही है ऐसे में लोगों को यह बताने की जरूरत है कि इस्लाम पर खतरा बढ़ता जा रहा है। शरिया के सदस्य का कहना है कि हम मुस्लिमों को संदेश देना चाहते हैं कि वे अब नही जागे तो बहुत देर हो जाएगा। बीजेपी और आरएसएस और भी कई तरह के बदलाव मुस्लिमों पर थोपना चाहती हैं, इसलिए इसके खिलाफ इकट्ठा होना होगा। वे तीन तलाक और अजान के लिए लाउडस्पीकर पर कदम उठा चुके हैं और इनकी लिस्ट बहुत बड़ी है। गौर करने वाली बात है कि पटना में इस रैली के आयोजन की खबर मिलने के बाद सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त करने की कवायद तेज कर दी गई है।

 

Todays Beets: