Friday, May 25, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

मुस्लिम संगठन पटना में केन्द्र सरकार के खिलाफ करेंगे महारैली, कहा-इस्लाम खतरे में 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुस्लिम संगठन पटना में केन्द्र सरकार के खिलाफ करेंगे महारैली, कहा-इस्लाम खतरे में 

पटना। भाजपा सरकार के प्रयासों के बाद सुप्रीम कोर्ट द्वारा तीन तलाक को अवैध करार देने के बाद  मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। केन्द्र सरकार पर जबरन कड़े नियमों को थोपने का आरोप लगाते हुए ‘इमारत शरिया’ की ओर से 15 अप्रैल को पटना में महारैली के आयोजन का फैसला लिया है। बताया जा रहा है कि इस रैली में करीब 3 लाख मुसलमान शामिल हो सकते हैं। मुस्लिम संगठनों का मानना है कि इस सरकार के राज में इस्लाम खतरे में है और इसे बचाने के लिए मुस्लिम संगठनों को आगे आने की जरूरत है।

गौरतलब है कि इमारत शरिया की ओर से आयोजित की जाने वाली इस महारैली का उद्देश्य ‘दीन बचाओ, देश बचाओ’ रखा गया है। इसमें सिर्फ बिहार ही नहीं बल्कि झारखंड और ओडिशा से भी मुसलमानों के पहुंचने की संभावना है। मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे उन्हें पिछले 4 सालों से देख रहे हैं। वे भले ही शासन चलाना सीख लें लेकिन उनकी व्यवस्था ठीक नहीं है। 

ये भी पढ़ें - प्रधानमंत्री आज जाएंगे छत्तीसगढ़, ग्राम स्वराज अभियान की होगी शुरुआत, सुरक्षा के कड़े इंतजाम


यहां बता दें कि उनका मानना है सरकार जबर्दस्ती उनके धर्म के मामले में दखल दे रही है ऐसे में लोगों को यह बताने की जरूरत है कि इस्लाम पर खतरा बढ़ता जा रहा है। शरिया के सदस्य का कहना है कि हम मुस्लिमों को संदेश देना चाहते हैं कि वे अब नही जागे तो बहुत देर हो जाएगा। बीजेपी और आरएसएस और भी कई तरह के बदलाव मुस्लिमों पर थोपना चाहती हैं, इसलिए इसके खिलाफ इकट्ठा होना होगा। वे तीन तलाक और अजान के लिए लाउडस्पीकर पर कदम उठा चुके हैं और इनकी लिस्ट बहुत बड़ी है। गौर करने वाली बात है कि पटना में इस रैली के आयोजन की खबर मिलने के बाद सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त करने की कवायद तेज कर दी गई है।

 

Todays Beets: