Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

नेपाली प्रधानमंत्री ने भारत को दिलाया भरोसा, कहा- अपनी जमीन का इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं होने देंगे  

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नेपाली प्रधानमंत्री ने भारत को दिलाया भरोसा, कहा- अपनी जमीन का इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं होने देंगे  

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दो दिवसीय नेपाल यात्रा का शनिवार को समापन हो गया। इस मौके पर पत्रकारों से बात करते हुए नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने कहा कि नेपाल भारत के हितों के प्रति संवदेनशील है और यह अपनी सरजमीं का इस्तेमाल उसके (भारत के) खिलाफ नहीं होने देगा। विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि प्रधानमंत्री ओली का यह बयान काफी अहम है और भारत इससे संतुष्ट है। 

गौरतलब है कि विदेश सचिव ने कहा कि ओली ने कहा कि नेपाल की 1,850 किमी लंबी सीमा सिक्किम, पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से लगी हुई है। दोनों देशों के सीमावर्ती लोगों का पारिवारिक और लंबा सांस्कृतिक संबंध है। दोनों देशों के यात्रियों को एक दूसरे देश जाने में वीजा की जरूरत नहीं पड़ती। ऐसे में नेपाल अपनी जमीन का इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं होने देगा। 


ये भी पढ़ें - इंदौर कोर्ट का बड़ा फैसला, दुधमुंही बच्ची से दुष्कर्म करने वाले को 23वें दिन दी सजा-ए-मौत

यहां बता दें कि ओली के साथ एक बैठक के बाद शुक्रवार को संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा था कि नेपाल और भारत के बीच खुली सीमाएं मजबूत द्विपक्षीय संबंधों में एक अहम भूमिका निभाती है। प्रधानमंत्री मोदी के साथ बैठक के दौरान नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने कहा कि उच्च स्तरीय यात्राओं ने दोनों देशों के लोगों के बीच संपर्क मजबूत किया है। भारतीय प्रधानमंत्री के जनकपुरधाम, मुक्तिनाथ और पशुपतिनाथ धाम की यात्रा से पर्यटन को और बढ़ावा मिलेगा। 

Todays Beets: