Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

फरार हीरा कारोबारी पर और कसा कानून का शिकंजा, 25 सितंबर को पेश नहीं होने पर संपत्ति होगी जब्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फरार हीरा कारोबारी पर और कसा कानून का शिकंजा, 25 सितंबर को पेश नहीं होने पर संपत्ति होगी जब्त

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों रुपये का चूना लगाकर देश से भाग चुके हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर कानूनी शिकंजा कसने की तैयारी और तेज कर दी गई है। ‘भगोड़ा आर्थिक अपराध कानून’ के तहत कोर्ट ने नीरव मोदी की बहन और भाई को शनिवार को सार्वजनिक समन जारी कर उन्हें 25 सितंबर को पेश होने को कहा है। समन में साफ कहा गया है कि अगर वे अदालत के सामने पेश नहीं हुए तो उनकी संपत्ति नए कानून के तहत जब्त कर ली जाएगी।

गौरतलब है कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पीएनबी से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी कर विदेश भाग गया। अब एजेंसियां उसे भारत लाने के लिए जीतोड़ कोशिश जुटी हुई है। बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के भाई निशाल मोदी और उसकी बहन पूर्वी मोदी को उनका मददगार माना है। ऐसे में एमएस काजमी की अदालत ने इनके नाम सार्वजनिक नोटिस जारी करते हुए कोर्ट में पेश होने को कहा हैै। 

ये भी पढ़ें -कोलकाता में ममता पर जमकर बरसे अमित शाह, कहा- विरोध करने से एनआरसी रुकने वाला नहीं 


नीरव मोदी के भाई और बहन के खिलाफ दिए गए नोटिस में कहा गया है कि प्रवर्तन निदेशालय और पहले से दर्ज संपत्तियों को भगोड़ा आर्थिक अपराध कानून के तहत क्यों न जब्त किया जाए? कोर्ट की ओर से दोनों को ही 25 सितंबर को पेश होने के लिए कहा गया है। 

यहां बता दें कि नीरव मोदी के खिलाफ दिए गए नोटिस में कहा गया है कि उसे भी 25 सितंबर को ही पेश होने के लिए कहा गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि देश छोड़कर भागने और सुनवाई के हाजिर न होने के कारण इस कानून के तहत भगोड़ा घोषित किया जाएगा। अगर तय तारीख को अदालत में उपस्थित नहीं होता है तो उसकी संपत्ति को जब्त किया जाएगा।

Todays Beets: