Saturday, February 23, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

फरार हीरा कारोबारी पर और कसा कानून का शिकंजा, 25 सितंबर को पेश नहीं होने पर संपत्ति होगी जब्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फरार हीरा कारोबारी पर और कसा कानून का शिकंजा, 25 सितंबर को पेश नहीं होने पर संपत्ति होगी जब्त

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों रुपये का चूना लगाकर देश से भाग चुके हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर कानूनी शिकंजा कसने की तैयारी और तेज कर दी गई है। ‘भगोड़ा आर्थिक अपराध कानून’ के तहत कोर्ट ने नीरव मोदी की बहन और भाई को शनिवार को सार्वजनिक समन जारी कर उन्हें 25 सितंबर को पेश होने को कहा है। समन में साफ कहा गया है कि अगर वे अदालत के सामने पेश नहीं हुए तो उनकी संपत्ति नए कानून के तहत जब्त कर ली जाएगी।

गौरतलब है कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पीएनबी से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी कर विदेश भाग गया। अब एजेंसियां उसे भारत लाने के लिए जीतोड़ कोशिश जुटी हुई है। बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के भाई निशाल मोदी और उसकी बहन पूर्वी मोदी को उनका मददगार माना है। ऐसे में एमएस काजमी की अदालत ने इनके नाम सार्वजनिक नोटिस जारी करते हुए कोर्ट में पेश होने को कहा हैै। 

ये भी पढ़ें -कोलकाता में ममता पर जमकर बरसे अमित शाह, कहा- विरोध करने से एनआरसी रुकने वाला नहीं 


नीरव मोदी के भाई और बहन के खिलाफ दिए गए नोटिस में कहा गया है कि प्रवर्तन निदेशालय और पहले से दर्ज संपत्तियों को भगोड़ा आर्थिक अपराध कानून के तहत क्यों न जब्त किया जाए? कोर्ट की ओर से दोनों को ही 25 सितंबर को पेश होने के लिए कहा गया है। 

यहां बता दें कि नीरव मोदी के खिलाफ दिए गए नोटिस में कहा गया है कि उसे भी 25 सितंबर को ही पेश होने के लिए कहा गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि देश छोड़कर भागने और सुनवाई के हाजिर न होने के कारण इस कानून के तहत भगोड़ा घोषित किया जाएगा। अगर तय तारीख को अदालत में उपस्थित नहीं होता है तो उसकी संपत्ति को जब्त किया जाएगा।

Todays Beets: