Tuesday, August 14, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

फरार हीरा कारोबारी पर और कसा कानून का शिकंजा, 25 सितंबर को पेश नहीं होने पर संपत्ति होगी जब्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फरार हीरा कारोबारी पर और कसा कानून का शिकंजा, 25 सितंबर को पेश नहीं होने पर संपत्ति होगी जब्त

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों रुपये का चूना लगाकर देश से भाग चुके हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर कानूनी शिकंजा कसने की तैयारी और तेज कर दी गई है। ‘भगोड़ा आर्थिक अपराध कानून’ के तहत कोर्ट ने नीरव मोदी की बहन और भाई को शनिवार को सार्वजनिक समन जारी कर उन्हें 25 सितंबर को पेश होने को कहा है। समन में साफ कहा गया है कि अगर वे अदालत के सामने पेश नहीं हुए तो उनकी संपत्ति नए कानून के तहत जब्त कर ली जाएगी।

गौरतलब है कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पीएनबी से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी कर विदेश भाग गया। अब एजेंसियां उसे भारत लाने के लिए जीतोड़ कोशिश जुटी हुई है। बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के भाई निशाल मोदी और उसकी बहन पूर्वी मोदी को उनका मददगार माना है। ऐसे में एमएस काजमी की अदालत ने इनके नाम सार्वजनिक नोटिस जारी करते हुए कोर्ट में पेश होने को कहा हैै। 

ये भी पढ़ें -कोलकाता में ममता पर जमकर बरसे अमित शाह, कहा- विरोध करने से एनआरसी रुकने वाला नहीं 


नीरव मोदी के भाई और बहन के खिलाफ दिए गए नोटिस में कहा गया है कि प्रवर्तन निदेशालय और पहले से दर्ज संपत्तियों को भगोड़ा आर्थिक अपराध कानून के तहत क्यों न जब्त किया जाए? कोर्ट की ओर से दोनों को ही 25 सितंबर को पेश होने के लिए कहा गया है। 

यहां बता दें कि नीरव मोदी के खिलाफ दिए गए नोटिस में कहा गया है कि उसे भी 25 सितंबर को ही पेश होने के लिए कहा गया है। इसमें यह भी कहा गया है कि देश छोड़कर भागने और सुनवाई के हाजिर न होने के कारण इस कानून के तहत भगोड़ा घोषित किया जाएगा। अगर तय तारीख को अदालत में उपस्थित नहीं होता है तो उसकी संपत्ति को जब्त किया जाएगा।

Todays Beets: