Sunday, January 20, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

शहरों के नाम बदलने का सिलसिला पहुंचा गुजरात, अब अहमदाबाद का नाम बदलने की तैयारी तेज 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शहरों के नाम बदलने का सिलसिला पहुंचा गुजरात, अब अहमदाबाद का नाम बदलने की तैयारी तेज 

अहमदाबाद। शहरों के नाम बदलने की सियासत उत्तरप्रदेश से होते हुए गुजरात तक पहुंच गई है। गुजरात सरकार अब राजधानी अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती रखने पर विचार कर रही है। गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि अगर कोई कानूनी अड़चन सामने नहीं आती है तो अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती रखा जाएगा। बताया जाता है कि अहमदाबाद का पुराना नाम अशवेल था। बाद में राजा कर्ण ने इस प्रदेश को जीतने के बाद इसका नाम कर्णावती रखा लेकिन मुगल शासकों ने इसका नाम अहमदाबाद कर दिया।

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने पहले मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलकर दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर रख दिया उसके बाद इलाहाबाद शहर का नाम बदलकर प्रयागराज किया गया और मंगलवार को सीएम योगी ने फैजाबाद का नाम अयोध्या करने का ऐलान कर दिया। अब शहरों के नाम बदलने की तैयारी गुजरात में भी की जा रही है। 

ये भी पढ़ें - नोटबंदी को लेकर कांग्रेस का सरकार पर हमला, कल पूरे देश में करेगी विरोध प्रदर्शन 

यहां बता दें कि गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन भाई पटेल ने कहा कि अहमदाबाद का नाम काफी समय से बदलकर कर्णावती रखने की मांग की जा रही है। उन्होंने कहा कि जब सही समय आएगा तो इसे बदल दिया जाएगा। मुख्यमंत्री विजहय रूपाणी ने भी गुरुवार को कहा कि कानूनी और अन्य अड़चनों को ध्यान में रखते हुए विचार किया जा रहा है और समय आने पर इसका निर्णय लिया जाएगा। 

ऐसे बदलता है शहर का नाम


- किसी शहर के स्थानीय लोग या जनप्रतिनिधि नाम बदलने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजे 

- राज्य मंत्रिमंडल प्रस्ताव पर विचार करती है और मंजूरी देने के बाद राज्यपाल की सहमति को भेजती है

- राज्यपाल प्रस्ताव पर अनुंशसा देने के साथ अंतिम मंजूरी के लिए केंद्रीय गृहमंत्रालय को भेजता है 

- गृहमंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद राज्य सरकार नाम बदलने की अधिसूचना जारी करती है 

Todays Beets: