Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

पीडीपी भी चली नेशनल कांफ्रेंस की राह, किया पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पीडीपी भी चली नेशनल कांफ्रेंस की राह, किया पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में होने वाले स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव का नेशनल कांफ्रेंस के बाद अब पीडीपी ने भी बहिष्कार करने का फैसला लिया है। पीडीपी की कार्यकारिणी की बैठक में सोमवार को इस बात पर फैसला लिया गया कि जबतक अनुच्छेद 35 ए के बारे में केन्द्र सरकार अगर कोई ठोस फैसला नहीं लेती है दोनों पार्टियों के द्वारा पंचायत चुनाव का बहिष्कार करेंगे। यहां बता दें पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पहले भी कहा था कि अगर राज्य से 35 ए को हटाया जाता है तो भारत के साथ राज्य का संबंध खत्म हो जाएगा। 

गौरतलब है कि पिछले दिनों नेशनल कांफ्रेंस ने पहले पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया था। ऐसा माना जा रहा है कि नेशनल कांफ्रेंस के इस फैसले से राज्य में उसकी राजनीतिक स्थिति और मजबूत हुई है। गौर करने वाली बात है कि जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 35 ए को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा था कि जब देश एक है तो संविधान अलग क्यों है?


ये भी पढ़ें - LIVE - सफल हुआ कांग्रेस का भारत बंद! भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिलने पहुंचे पेट्रोलिमय मंत्री...

यहां बता दें कि डोभाल के इस बयान के बाद राजनीति भी काफी तेज हो गई है। अगर जम्मू कश्मीर से 35 ए को खत्म कर दिया जाता है तो देश के दूसरे राज्यों के लोग भी वहां जमीन खरीदकर बस सकते हैं। इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है ऐसे में अब नेशनल कांफ्रेंस के बाद पीडीपी के द्वारा पंचायत चुनाव का बहिष्कार कर केन्द्र पर दवाब बनाने की कोशिश की जा रही है। 

Todays Beets: