Wednesday, January 23, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

पीडीपी भी चली नेशनल कांफ्रेंस की राह, किया पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पीडीपी भी चली नेशनल कांफ्रेंस की राह, किया पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में होने वाले स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव का नेशनल कांफ्रेंस के बाद अब पीडीपी ने भी बहिष्कार करने का फैसला लिया है। पीडीपी की कार्यकारिणी की बैठक में सोमवार को इस बात पर फैसला लिया गया कि जबतक अनुच्छेद 35 ए के बारे में केन्द्र सरकार अगर कोई ठोस फैसला नहीं लेती है दोनों पार्टियों के द्वारा पंचायत चुनाव का बहिष्कार करेंगे। यहां बता दें पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पहले भी कहा था कि अगर राज्य से 35 ए को हटाया जाता है तो भारत के साथ राज्य का संबंध खत्म हो जाएगा। 

गौरतलब है कि पिछले दिनों नेशनल कांफ्रेंस ने पहले पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया था। ऐसा माना जा रहा है कि नेशनल कांफ्रेंस के इस फैसले से राज्य में उसकी राजनीतिक स्थिति और मजबूत हुई है। गौर करने वाली बात है कि जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 35 ए को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा था कि जब देश एक है तो संविधान अलग क्यों है?


ये भी पढ़ें - LIVE - सफल हुआ कांग्रेस का भारत बंद! भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिलने पहुंचे पेट्रोलिमय मंत्री...

यहां बता दें कि डोभाल के इस बयान के बाद राजनीति भी काफी तेज हो गई है। अगर जम्मू कश्मीर से 35 ए को खत्म कर दिया जाता है तो देश के दूसरे राज्यों के लोग भी वहां जमीन खरीदकर बस सकते हैं। इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है ऐसे में अब नेशनल कांफ्रेंस के बाद पीडीपी के द्वारा पंचायत चुनाव का बहिष्कार कर केन्द्र पर दवाब बनाने की कोशिश की जा रही है। 

Todays Beets: