Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

नोटबंदी के बाद सरकार ने लिया एक और बड़ा फैसला, अब सिक्कों का प्रोडक्शन हुआ बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नोटबंदी के बाद सरकार ने लिया एक और बड़ा फैसला, अब सिक्कों का प्रोडक्शन हुआ बंद

नई दिल्ली। देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए बड़े फैसले लेने वाली मोदी सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है। नोटबंदी के बाद अब सरकार ने सिक्का बंद करने का निर्णय लिया है। सरकार के इस फैसले के बाद देश के सभी टकसालों में सिक्के बनाने का काम बंद कर दिया गया है। रिजर्व बैंक के अधिकारियों ने भी इसकी पुष्टि की है।

सिक्कों का बड़ा भंडार

गौरतलब है कि देश में नोएडा, मुंबई, कोलकाता और हैदराबाद के सरकारी टकसालों में सिक्कों का प्रोडक्शन का काम किया जाता है। आपको बता दें कि भारत सरकार की ओर से इन चारों जगह पर ही सिक्के बनाए जाते हैं। हालांकि आरबीआई के अधिकारियों का कहना है कि नोटबंदी के दौरान बड़ी मात्रा में सिक्के बनाए गए थे इस वजह से फिलहाल सिक्कों को बनाने का काम बंद कर दिया गया है। आरबीआई की एक नोटिस के अनुसार 8 जनवरी तक 2500 एमपीसीएस सिक्कों का स्टोरेज है, इसी कारण आरबीआई के अगले आदेश तक सिक्कों का प्रोडक्शन रोक दिया गया है।

ये भी पढ़ें - मोकामा में शंटिंग में खड़ी पैसेंजर ट्रेन में लगी भीषण आग, 6 डिब्बे पूरी तरह से खाक, जान-माल का...


नोटबंदी का ऐलान

यहां बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को देश में नोटबंदी का ऐलान किया था जिसके बाद 1000 और 500 रुपये के नोट को कानूनी तौर पर अमान्य घोषित कर दिया गया था। सरकार का कहना था कि इससे भ्रष्टाचार और कालाधन पर लगाम लगेगी। हालांकि नोटबंदी लागू होने के बाद पूरे देश में काफी दिनों तक अफरातफरी का माहौल रहा था।

 

Todays Beets: