Tuesday, October 16, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को मिली नई जिम्मेदारी, बने मोदी सरकार के सबसे ताकतवर नौकरशाह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को मिली नई जिम्मेदारी, बने मोदी सरकार के सबसे ताकतवर नौकरशाह

नई दिल्ली। देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को अतिरिक्त जिम्मेदारी दी है। रणनीतिक नीति समूह (स्ट्रैटिजिक पॉलिसी ग्रुप) यानी एसपीजी के कैबिनेट सचिव के बदले अब वो इसकी अध्यक्षता करेंगे। कैबिनेट सचिव उनके द्वारा लिए गए फैसलों को अमल में लाने के लिए विभिन्न मंत्रालयों और विभागों के बीच समन्वय स्थापित करेंगे। इस नई जिम्मेदारी के बाद डोभाल मोदी सरकार में सबसे ज्यादा शक्तिशाली नौकरशाहों में शामिल हो गए हैं। 

गौरतलब है कि एसपीजी का गठन 1999 में बाहरी, आंतरिक और आर्थिक सुरक्षा के मामलों में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) की मदद के लिए किया गया था। अब तक इसकी बैठक की अध्यक्षता कैबिनेट सचिव किया करते थे जो सबसे वरिष्ठ होते थे। अब मोदी सरकार ने एक नए फैसले के तहत यह जिम्मेदारी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को सौंप दी है। 

ये भी पढ़ें - आम्रपाली ग्रुप को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, पुलिस ने 3 डायरेक्टरों को कस्टडी में लिया


यहां बता दें कि मोदी सरकार ने 11 सितंबर को इस संबंध में अधिसूचना जारी की थी और 8 अक्टूबर को गजट प्रकाशित किया था। अधिसूचना के मुताबिक, अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को इस समूह का चेयरमैन घोषित किया गया है। एसपीजी में पहले 16 सदस्य थे जिसे बढ़ाकर अब 18 कर दी गई है। इसमें कैबिनेट सचिव के साथ ही नीति आयोग के उपाध्यक्ष को भी शामिल किया गया है। 

गौर करने वाली बात है कि एसपीजी में तीनों सेनाओं के सेनाध्यक्ष, आरबीआई गवर्नर, गृह सचिव, वित्त सचिव, रक्षा सचिव, विदेश सचिव और इंटेलिजेंस ब्यूरो के प्रमुख शामिल हैं।

Todays Beets: