Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को मिली नई जिम्मेदारी, बने मोदी सरकार के सबसे ताकतवर नौकरशाह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को मिली नई जिम्मेदारी, बने मोदी सरकार के सबसे ताकतवर नौकरशाह

नई दिल्ली। देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को अतिरिक्त जिम्मेदारी दी है। रणनीतिक नीति समूह (स्ट्रैटिजिक पॉलिसी ग्रुप) यानी एसपीजी के कैबिनेट सचिव के बदले अब वो इसकी अध्यक्षता करेंगे। कैबिनेट सचिव उनके द्वारा लिए गए फैसलों को अमल में लाने के लिए विभिन्न मंत्रालयों और विभागों के बीच समन्वय स्थापित करेंगे। इस नई जिम्मेदारी के बाद डोभाल मोदी सरकार में सबसे ज्यादा शक्तिशाली नौकरशाहों में शामिल हो गए हैं। 

गौरतलब है कि एसपीजी का गठन 1999 में बाहरी, आंतरिक और आर्थिक सुरक्षा के मामलों में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) की मदद के लिए किया गया था। अब तक इसकी बैठक की अध्यक्षता कैबिनेट सचिव किया करते थे जो सबसे वरिष्ठ होते थे। अब मोदी सरकार ने एक नए फैसले के तहत यह जिम्मेदारी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को सौंप दी है। 

ये भी पढ़ें - आम्रपाली ग्रुप को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, पुलिस ने 3 डायरेक्टरों को कस्टडी में लिया


यहां बता दें कि मोदी सरकार ने 11 सितंबर को इस संबंध में अधिसूचना जारी की थी और 8 अक्टूबर को गजट प्रकाशित किया था। अधिसूचना के मुताबिक, अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को इस समूह का चेयरमैन घोषित किया गया है। एसपीजी में पहले 16 सदस्य थे जिसे बढ़ाकर अब 18 कर दी गई है। इसमें कैबिनेट सचिव के साथ ही नीति आयोग के उपाध्यक्ष को भी शामिल किया गया है। 

गौर करने वाली बात है कि एसपीजी में तीनों सेनाओं के सेनाध्यक्ष, आरबीआई गवर्नर, गृह सचिव, वित्त सचिव, रक्षा सचिव, विदेश सचिव और इंटेलिजेंस ब्यूरो के प्रमुख शामिल हैं।

Todays Beets: