Sunday, February 17, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

पाकिस्तान ने पहली बार माना लश्कर को माना आतंकी संगठन, दफ्तर और बैंक खाते होंगे सील

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तान ने पहली बार माना लश्कर को माना आतंकी संगठन, दफ्तर और बैंक खाते होंगे सील

नई दिल्ली। पाकिस्तान ने पहली बार लश्कर ए तैयबा और जमात उद दावा जैसे आतंकी संगठनों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के खातों को सील किया जाएगा। पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधी कानून में बदलाव संबंधी अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। इसके तहत पाक सरकार को इन आतंकी संगठन के दफ्तर और बैंक खातों को बंद करना होगा। बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ कोई सबूत न होने की बात कह चुके हैं। 

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय दवाब की वजह से पाकिस्तान की ओर से इन संगठनों पर कार्रवाई करने का दिखावा करता रहा है। पाकिस्तानी राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधी कानून वाले अध्यादेश में संशोधन वाले प्रस्ताव को मंजूरी देने के बाद गृह, वित्त और विदेश मंत्रालय तथा काउंटर फाइनेंसिंग ऑफ टेररिज्म विंग इस मामले पर काम कर रहे हैं। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के द्वारा आतंकी संगठनों की जो सूची जारी की गई है उनमें हाफिज सईद के संगठन लश्कर ए तैयबा के साथ जमात उद दावा का नाम भी शामिल है।


ये भी पढ़ें - सीआपीएफ मुख्यालय के हमलावरों के साथ दूसरे दिन भी मुठभेड़ जारी, सेना कर रही इमारत को उड़ाने की तैयारी 

आपको बता दें कि सरकार के इस कदम से अल कायदा, तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान, लश्कर ए झांगवी, जमात उद दावा, लश्कर-ए-ताइबा, फलाह ए इंसानियत फाउंडेशन और दूसरे अन्य संगठनों पर कार्रवाई की जा सकेगी।  

Todays Beets: