Monday, January 21, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

आदमखोर बाघिन की हत्या पर शूटर का मेनका गांधी पर पलटवार, कहा-कर सकता हूं मुकदमा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आदमखोर बाघिन की हत्या पर शूटर का मेनका गांधी पर पलटवार, कहा-कर सकता हूं मुकदमा

मुंबई। आदमखोर बाघिन अवनि की हत्या पर अब आरोपों का दौर शुरू हो गया है। अवनि को मारने वाले शूटर असगर अली के पिता भी इस मामले में कूद गए हैं। मशहूर निशानेबाज नवाब शफात अली ने कहा कि उनके बेटे ने किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं किया है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि एयरकंडीशर कमरे में बैठे लोग उनपर आरोप लगा रहे हैं जो कि बिल्कुल आधारहीन है। शफात अली का कहना है कि इस आरोप को लेकर कानूनी राय लेने के बाद मंत्री पर मुकदमा कर सकते हैं। 

गौरतलब है कि समाज कल्याण और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस को पत्र लिखकर वन और पर्यावरण मंत्री सुधीर मुनगंटीवार को बर्खास्त करने का अनुरोध किया था। उनका कहना है कि जंगली जानवरों की रक्षा की जिम्मेदारी वन मंत्री की होती है ऐसे में अवनि की हत्या से इस बात का पता चलता है कि वे अपनी जिम्मेदारियों को निभाने में विफल रहे हैं। 

ये भी पढ़ें - दिल्ली-एनसीआर में लोगों ने उड़ाई सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां, हवा हुई जानलेवा


यहां बता दें कि अवनि  को मारने वाले असगर अली के पिता नवाब शफात अली ने कहा कि मेरे बेटे ने आत्मरक्षा में अवनि बाघिन को मार डाला क्योंकि प्रशासन उसे पकड़ने का प्रयास विफल रहा और बाघ उसपर हमला करने जा रहा था। उन्हांेने कहा कि उनके बेटे ने किसी सरकारी आदेश का उल्लंघन नहीं किया है।

गौर करने वाली बात है कि आदमखोर बाघिन अवनि को एक अभियान के तहत 2 नवंबर को मार दिया गया था। वहीं मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस कह चुके है कि इस मुद्दे पर वन मंत्री को इस्तीफा देने की जरूरत नहीं है।

Todays Beets: