Wednesday, October 17, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

तकनीकी शिक्षा की डिग्री देने की आड़ में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा पाकिस्तान- पुलिस महानिदेशक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तकनीकी शिक्षा की डिग्री देने की आड़ में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा पाकिस्तान- पुलिस महानिदेशक

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान द्वारा आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने के एक और अध्याय का खुलासा हुआ है। जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एसपी वैद्य ने कहा कि पाकिस्तान युवाओं को तकनीकी शिक्षा की डिग्रियां देने की आड़ में उन्हें भटका रहा है। उन्होंने  कहा कि छात्रों से ली जाने वाली फीस का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है। तकनीकी शिक्षा के नाम पर स्थानीय युवाओं को हथियार चलाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यहां गौर करने वाली बात है कि घाटी से बड़ी संख्या में छात्र शिक्षा हासिल करने के लिए पाकिस्तान का रुख कर रहे हैं। 

गौरतलब है कि इन छात्रों को अलगाववादी नेताओं की सिफारिश पर वीजा दिलवाया जा रहा है। पुलिस महानिदेशक ने बताया कि मेडिकल और इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के लिए पाकिस्तान जाने वाले युवाओं को पूरी तरह से ब्रेनवाॅश किया जाता है और उन्हें भारत के खिलाफ भड़काया जाता है। हथियार चलाने के प्रशिक्षण के बाद उन्हें घाटी में वापस बुलाया जाता है। पुलिस द्वारा कई युवाओं से पूछताछ में यह बात सामने आई है।


ये भी पढ़ें - कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को किया नोटिस जारी, 20 अगस्त तक रिपोर्ट पेश करने के आदेश

यहां बता दें कि एसपी वैद्य ने बताया कि युवाओं को वीजा दिलाने में पाकिस्तानी उच्चायुक्त और अलगाववादी नेताओं के बीच सांठगांठ की बात भी सामने आई है। उन्होंने कहा कि इन नेताओं की सिफारिश पर ही नौजवानों को पाकिस्तानी एंबेसी से वीजा प्राप्त हो पाता है। इसके साथ ही सोशल मीडिया के जरिए भी युवाओं को फंसाने का सिलसिला जारी है। फेसबुक पर दोस्त बनाकर उन्हें भारत के खिलाफ भड़काया जाता है।  

Todays Beets: