Tuesday, February 19, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

यूपी में पंचायत का फरमान, शादियों में अब नहीं बजेगा डीजे, कार्ड छपवाने के बजाय सोशल मीडिया के जरिए मिलेगा निमंत्रण

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी में पंचायत का फरमान, शादियों में अब नहीं बजेगा डीजे, कार्ड छपवाने के बजाय सोशल मीडिया के जरिए मिलेगा निमंत्रण

लखनऊ। शादियों में डीजे का बजना आम बात है लेकिन उत्तरप्रदेश में पंचायत ने एक अजीबोगरीब फरमान सुनाया है। अब गोहरा आलमगीरपुर गांव  के आसपास बसे दर्जनों गांवों में अब शादी समारोह में डीजे की धमक नहीं सुनाई देगी। इसके साथ ही शादियों में अनावश्यक खर्च भी नहीं किया जाएगा। यह फैसला गोहरा गांव में जिला पंचायत सदस्य कृष्णकांत की अध्यक्षता में हुई सर्वसमाज की महापंचायत में लिया गया। बताया जा रहा है कि कुछ दिनों पहले एक शादी में घुड़चढ़ी के दौरान डीजे की तेज धमक के कारण एक महिला की मौत हो गई थी और कई गाड़ियों के शीशे टूट गए थे।

गौरतलब है कि डीजे की तेज आवाज मरीजों को काफी नुकसान पहुंचता है उनके लिए इसे सहन कर पाना काफी मुश्किल होता है। यूपी के गांव गोहरा आलमगीरपुर में जिला पंचायत सदस्य कृष्णकांत हूण के नेतृत्व में सर्वसमाज की महापंचायत का आयोजन किया गया जिसमें धनावली अट्टा, मुदाफरा, बागड़पुर, हरनाथपुर कोटा, माधापुर, आघापुरा, मतनौरा, छतनौरा, मुक्तेश्वरा, औरंगाबाद, आरिफपुर, सरीफपुर, सलारपुर, दत्तियाना समेत तीन दर्जन गांवों के सैकड़ों ग्रामीणों ने भाग लिया। महापंचायत की बैठक में इस बात का फैसला लिया गया कि पूरे गांव में किसी भी शादी के दौरान डीजे नहीं बजेंगे।


ये भी पढ़ें - पूरे देश में मौसम का कहर जारी, 50 लोगों की मौत, दिल्ली-एनसीआर में कई पेड़ उखड़े, 48 घंटे भारी

यहां बता दें कि महापंचाययत ने इस बात का भी निर्णय लिया कि दहेज की लिस्ट पढ़कर नहीं सुनाई जाएगी न ही दहेज के समान का प्रचार करेंगे, असलहों के साथ बारात का स्वागत नहीं किया जाएगा और न ही ककसी भी तरह की हर्ष फायरिंग होने की इजाजत होगी। सबसे बड़ी बात यह रही कि खाने की बर्बादी को लेकर पर बड़ा निर्णय लिया। कागज की बर्बादी को रोकने के लिए शादी के कार्ड भी छपवाने के बजाय व्हाट्स एप या फोन पर निमंत्रण देने की बात कही गई है। 

Todays Beets: