Sunday, September 23, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

मोदी मंत्रिमंडल में हुआ बड़ा फेरबदल, पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त भार, राठौर को स्वतंत्र प्रभार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मोदी मंत्रिमंडल में हुआ बड़ा फेरबदल, पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त भार, राठौर को स्वतंत्र प्रभार

नई दिल्ली। मोदी सरकार की कैबिनेट में  बड़ा फेरबदल हो सकता है। बताया जा रहा है कि  सूचना एवं प्रसारण के राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को स्वतंत्र प्रभार दे कर उन्हें इस मंत्रालय की पूरी जिम्मेदारी उन्हें सौंप दी है। अब तक सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का अतिरिक्त भार संभाल रही स्मृति ईरानी सिर्फ कपड़ा मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालेंगी। केन्द्र सरकार ने रेल मंत्री पीयूष गोयल का कद बढ़ाकर उन्हें वित्त मंत्रालय की अतिरिक्त जिम्मेदारी देने का फैसला किया है। 

गौरतलब है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली के स्वस्थ होने तक गोयल वित्त मंत्री रहेंगे। खबरों के अनुसार अगर कर्नाटक में भाजपा-जेडी (एस) गठबंधन की सरकार बनती है तो मंत्रिमंडल के छोटे फेरबदल की संभावना हो सकती है। यहां बता दें कि जेटली का अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में किडनी ट्रांसप्लांट का सफल ऑपरेशन किया गया है। 

ये भी पढ़ें - कर्नाटक विधानसभा चुनावः शुरुआती रुझानों में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी, सिद्धारमैया दोनों सीटों पर पीछे


यहां गौर करने वाली बात है कि राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की अहम जिम्मेदारी दिए जाने को राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव से जोड़ कर देखा जा रहा है। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ राजस्थान के ठाकुर हैं और ऐसा माना जा रहा है कि फिल्म पद्मावत विवाद के बाद से नाराज राजस्थान के ठाकुरों को साधने के मकसद से राठौड़ को केंद्र में ठाकुरों के चेहरे के तौर पर उभारने की कोशिश की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले सितंबर 2017 में केंद्रीय मंत्रालय में फेरबदल कर नए चेहरों को मंत्रालयों की कमान सौंपी गई थी। इस फेरबदल में निर्मला सीतारमण को रक्षा मंत्रालय दिया गया था, वहीं लंबे समय से इस्तीफे की पेशकश के बाद सुर्खियों में रहे सुरेश प्रभु को वाणिज्य मंत्रालय सौंपा गया था जबकि रेल मंत्रालय पीयूष गोयल को दिया गया था।

Todays Beets: