Monday, August 20, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

पिछली सरकार घड़ियाली आंसू बहाती रही, हमने बंद कारखानों को चालू करने का बीड़ा उठाया हैः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पिछली सरकार घड़ियाली आंसू बहाती रही, हमने बंद कारखानों को चालू करने का बीड़ा उठाया हैः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 

नई दिल्ली। मिशन 2019 के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में रैली में कहा कि 5 करोड़ गन्ना किसानों के हित में सरकार ने कई फैसले किए हैं। पीएम ने कहा कि मैंने बंद कारखानों को चालू करने का बीड़ा उठाया है। किसानों को अब गन्ना के लागत मूल्य पर 80 फीसदी लाभ मिलेगा। चीनी बनाने के बाद गन्ना के बचे हुए अवशेष को भी उपयोग में लाया जाएगा। यह ईंधन बनाने के काम आएगा। 20 लाख टन चीनी के निर्यात को मंजूरी दी है। चीनी का न्यूनतम मूल्य तय किया गया है। चीनी के आयात पर 100 फीसदी आयात शुल्क लगाया गया है ताकि किसानों को फायदा हो

। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार ने किसानों के हित में कुछ नहीं किया। केवल घड़ियाली आंसू बहाते रहे। किसनों के हित और कृषि के विकास का ठोस रोडमैप नहीं बनाया। यही कारण है कि किसानों की आमदनी में वृद्धि नहीं हुई। प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान देश की आत्मा हैं और किसानों की उन्नति के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर ही है। 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने की बात कही। पीएम ने कहा कि संकल्प को पूरी ईमानदारी से पूरा करने के प्रयास में जुटे हैं।


 प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे पहले सरकार किसानों के हित में लगभग एक दर्जन से ज्यादा फसलों के एमएसपी में वृद्धि कर चुकी है। फसलों के एमएसपी में 200 से 1800 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है। कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि राहुल गांधी को केवल प्रधानमंत्री की कुर्सी नजर आती है। अविश्वास प्रस्ताव का कारण पूछा तो कल संसद में गले पड़ गए।         

Todays Beets: