Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

पिछली सरकार घड़ियाली आंसू बहाती रही, हमने बंद कारखानों को चालू करने का बीड़ा उठाया हैः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पिछली सरकार घड़ियाली आंसू बहाती रही, हमने बंद कारखानों को चालू करने का बीड़ा उठाया हैः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 

नई दिल्ली। मिशन 2019 के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में रैली में कहा कि 5 करोड़ गन्ना किसानों के हित में सरकार ने कई फैसले किए हैं। पीएम ने कहा कि मैंने बंद कारखानों को चालू करने का बीड़ा उठाया है। किसानों को अब गन्ना के लागत मूल्य पर 80 फीसदी लाभ मिलेगा। चीनी बनाने के बाद गन्ना के बचे हुए अवशेष को भी उपयोग में लाया जाएगा। यह ईंधन बनाने के काम आएगा। 20 लाख टन चीनी के निर्यात को मंजूरी दी है। चीनी का न्यूनतम मूल्य तय किया गया है। चीनी के आयात पर 100 फीसदी आयात शुल्क लगाया गया है ताकि किसानों को फायदा हो

। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार ने किसानों के हित में कुछ नहीं किया। केवल घड़ियाली आंसू बहाते रहे। किसनों के हित और कृषि के विकास का ठोस रोडमैप नहीं बनाया। यही कारण है कि किसानों की आमदनी में वृद्धि नहीं हुई। प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान देश की आत्मा हैं और किसानों की उन्नति के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर ही है। 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने की बात कही। पीएम ने कहा कि संकल्प को पूरी ईमानदारी से पूरा करने के प्रयास में जुटे हैं।


 प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे पहले सरकार किसानों के हित में लगभग एक दर्जन से ज्यादा फसलों के एमएसपी में वृद्धि कर चुकी है। फसलों के एमएसपी में 200 से 1800 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है। कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि राहुल गांधी को केवल प्रधानमंत्री की कुर्सी नजर आती है। अविश्वास प्रस्ताव का कारण पूछा तो कल संसद में गले पड़ गए।         

Todays Beets: