Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

केंद्र सरकार ने दिया किसानों को बड़ा तोहफा, नई खरीद नीति को दी मंजूरी 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केंद्र सरकार ने दिया किसानों को बड़ा तोहफा, नई खरीद नीति को दी मंजूरी 

नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार ने किसानों को एक बड़ा तोहफा दिया है। पीएम मोदी की कैबिनेट ने नई खरीद नीति को मंजूरी दे दी है। इस नीति को मंजूरी मिलने से किसानों को उनकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) मिलेगा और बाजार में फसल की कीमतें कम होने के बावजूद सरकार उसी मूल्य पर खरीदेगी। सरकार के इस फैसले से खजाने पर करीब 40 हजार करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। यहां बता दें कि सरकार 22 फसलों की एमएसपी पहले ही बढ़ा चुकी है।

गौरतलब है कि नई खरीद नीति खरीफ फसलों के सीजन से लागू होगी। नई खरीद नीति की घोषणा पीएम मोदी जुलाई में ही कर चुके हैं। इससे पहले ही सरकार ने 22 फसलों पर एमएसपी बढ़ा दिया था। यह नई नीति खेती करने वाले किसानों को कर्ज मुक्ति में भी मदद करेगी। इस नीति के तहत फसल सरकार द्वारा खरीदी जाएगी और न्यूनतम समर्थन मूल्य किसानों के अकाउंट में सीधे ट्रांसफर किया जाएगा।


ये भी पढ़ें - इसरो की ‘नई उड़ान’ रचेगी इतिहास, अमेरिका और रूस को टक्कर

यहां आपको बता दें कि नई खरीद नीति को मंजूरी देने के साथ ही सरकार ने इथेनाॅल के दामों में भी वृद्धि करने का ऐलान किया है। तेल मार्केटिंग कंपनियों को अब चीनी मिलों से इथेनाॅल 52 रुपये प्रति लीटर की दर से खरीद सकती हैं जो कि पहले 47.5 रुपये प्रति लीटर था। सरकार के इस फैसले से किसानों को काफी फायदा होगा। 

Todays Beets: