Monday, November 20, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

अपने जन्मदिवस के मौके पर यह खास काम करेंगे प्रधानमंत्री मोदी 

अंग्वाल संवाददाता
अपने जन्मदिवस के मौके पर यह खास काम करेंगे प्रधानमंत्री मोदी 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन आगामी शनिवार यानी (17 सितबंर) को है। इस मौके पर वह एक खास काम करने वाले हैं। पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू द्वारा 56 साल पहले गुजरात के नर्मदा जिले के केवादिया में सरदार सरोवर बांध की आधार शिला रखी थी। इसके बाद अब 17 सितंबर को पीएम मोदी इसका उद्धाटन करेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बांध है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा है कि पीएम सरदार सरोवर परियोजना को इशके 30 दरवाजों को खोलने के बाद राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

यह भी पढ़े- धार्मिक स्कूल में आग लगने से सोते हुए 23 बच्चों की मौत, कई अस्पताल में भर्ती

इसे नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण द्वारा इस साल 17 जून को बंद कर दिया गया था। रूपाणी ने कहा है कि यह उनके जन्मदिन का सबसे अच्छा तोहफा है, क्योंकि उन्होंने इस बांध के लिए अथक काम किया है, ताकि राज्य के सूखा प्रभावित क्षेत्रों में पानी लाया जा सके। 


यह भी पढ़े- बागपत में क्षमता से ज्यादा लोगों को ले जा रही नाव डूबी, 20 लोगों की मौत, कई लापता

इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस पर निशाने साधते हुए कहा कि वर्ष 2014 से पहले के सालों तक संप्रग सरकार ने बांध के गेट स्थापित करने की अनुमति नहीं दी। मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के 17 दिन के अंदर अनुमति दे दी गई। उन्होंने यह भी कहा कि इस परियोजना से 18 लाख हेक्टेयर जमीन को लाभ होगा। नर्मदा के पानी से नहरों के द्वारा 9,000 गांवों में सिंचाई की जा सकेगी।

Todays Beets: