Saturday, September 23, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

अपने जन्मदिवस के मौके पर यह खास काम करेंगे प्रधानमंत्री मोदी 

अंग्वाल संवाददाता
अपने जन्मदिवस के मौके पर यह खास काम करेंगे प्रधानमंत्री मोदी 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन आगामी शनिवार यानी (17 सितबंर) को है। इस मौके पर वह एक खास काम करने वाले हैं। पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू द्वारा 56 साल पहले गुजरात के नर्मदा जिले के केवादिया में सरदार सरोवर बांध की आधार शिला रखी थी। इसके बाद अब 17 सितंबर को पीएम मोदी इसका उद्धाटन करेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बांध है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा है कि पीएम सरदार सरोवर परियोजना को इशके 30 दरवाजों को खोलने के बाद राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

यह भी पढ़े- धार्मिक स्कूल में आग लगने से सोते हुए 23 बच्चों की मौत, कई अस्पताल में भर्ती

इसे नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण द्वारा इस साल 17 जून को बंद कर दिया गया था। रूपाणी ने कहा है कि यह उनके जन्मदिन का सबसे अच्छा तोहफा है, क्योंकि उन्होंने इस बांध के लिए अथक काम किया है, ताकि राज्य के सूखा प्रभावित क्षेत्रों में पानी लाया जा सके। 


यह भी पढ़े- बागपत में क्षमता से ज्यादा लोगों को ले जा रही नाव डूबी, 20 लोगों की मौत, कई लापता

इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस पर निशाने साधते हुए कहा कि वर्ष 2014 से पहले के सालों तक संप्रग सरकार ने बांध के गेट स्थापित करने की अनुमति नहीं दी। मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के 17 दिन के अंदर अनुमति दे दी गई। उन्होंने यह भी कहा कि इस परियोजना से 18 लाख हेक्टेयर जमीन को लाभ होगा। नर्मदा के पानी से नहरों के द्वारा 9,000 गांवों में सिंचाई की जा सकेगी।

Todays Beets: