Tuesday, September 25, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

लाल किले पर हमले का आरोपी 17 सालों बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे, स्पेशल सेल और गुजरात एटीएस ने एयरपोर्ट से पकड़ा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लाल किले पर हमले का आरोपी 17 सालों बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे, स्पेशल सेल और गुजरात एटीएस ने एयरपोर्ट से पकड़ा

नई दिल्ली। नई दिल्ली के लाल किले पर साल 2000 में हुए आतंकी हमले के फरार चल रहे मुख्य आरोपी बिलाल अहमद काहवा को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुजरात पुलिस की एटीएस के साथ मिलकर दिल्ली हवाई अड्डे से पकड़ा है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल पकड़े गए आतंकी से पूछताछ कर रही है। इस संदिग्ध आतंकी के पकड़े जाने के बाद दिल्ली में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है।

लाल किले पर हमला

गौरतलब है कि बिलाल अहमद काहवा को उस समय पकड़ा गया जब वह दिल्ली से जम्मूकश्मीर जाने के लिए हवाई जहाज का इंतजार कर रहा था। बताया जा रहा है कि इसे साल 2000 में लाल किले पर हुए हमले के आरोप में गिरफ्तार किया है। बता दें कि साल 2000 में 22 दिसंबर को लश्कर ए तैयबा के आतंकियों ने लाल किले पर हमला कर दिया था जिसमें सेना के तीन जवानों की मौत हो गई थी। इसमें ट्रायल कोर्ट में मामला चला जिसमें 11 लोगों को दोषी ठहराया गया था। 

ये भी पढ़ें - सेना दिवस के परेड से पहले बड़ा हादसा, रिहर्सल के दौरान हेलीकाॅप्टर से गिरा जवान, बाल-बाल बची जान


हवाला के जरिए मिले पैसे

यहां बता दें कि जांच में इस बात का भी पता चला था कि हमले को अंजाम देने के लिए कई बैंकों में हवाला के जरिए करीब 29 लाख 50 हजार रुपये जमा कराए गए थे और ये सभी खाते बिलाल अहमद काहवा के ही थे। ऐसा बताया जा रहा है कि इस हमले के दूसरे आरोपी मो. आरिफ उर्फ अशफाक ने सारी रकम खातों में जमा कराई थी।

 

Todays Beets: