Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

LIVE: राहुल गांधी का पीएम मोदी पर ‘राफेल वार’, कहा- वे खुद भ्रष्ट हैं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
LIVE: राहुल गांधी का पीएम मोदी पर ‘राफेल वार’, कहा- वे खुद भ्रष्ट हैं

नई दिल्ली।  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार की दोपहर राफेल मुद्दे को लेकर एक बार फिर से सरकार पर हमला बोला। पहले उन्होंने फा्रंस के पूर्व राष्ट्रपति के बयान का हवाला दिया। उसके बाद उन्होंने कहा कि अब राफेल विमान बनाने वाली कंपनी दसाॅल्ट के अधिकारी का बयान पढ़ते हुए कहा कि इससे साफ है कि पीएम ने उन्हें 30 हजार करोड़ रुपये की फायदा कराया। उन्होंने कहा कि कभी भी विमान का एक पूर्जा तक नहीं बनाने वाले रिलायंस कंपनी को पीएम ने इसका ठेका दिलवाया।  

गौरतलब है कि राहुल गांधी इससे पहले भी राफेल को लेकर लगातार सरकार पर हमलावर रहे हैं। संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान भी उन्होंने देश के पीएम और रक्षा मंत्री पर झूठ बोलने का आरोप लगाया गया था। इसके बाद पीएम और रक्षा मंत्री ने उनके इस बयान का खंडन किया था। 


ये भी पढ़ें - Breaking News - ED ने कीर्ति चिदंबरम पर की बड़ी कार्रवाई। लंदन, स्पेन समेत भारत में मौजूद 54 ...

यहां बता दें कि उन्होंने सीधे पीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि वे भ्रष्ट हैं और राफेल की कीमत के बारे मंे उनसे पूछने पर वे आंख तक नहीं मिला पाए। यह सीधे-सीधे प्रधानमंत्री के भ्रष्टाचार का मामला है। राहुल गांधी ने कहा कि पीएम राफेल को लेकर कुछ भी नहीं बोलते हैं और अब रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण का फ्रांस जाना एक बड़ा सवाल खड़ा करता है। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली से संयुक्त संसदीय समिति के जरिए जांच कराने की मांग की थी लेकिन उसे भी नहीं माना गया। पत्रकारों द्वारा पीएम के इस्तीफे के बारे मंे सवाल पूछने पर उन्होंने कहा कि देना चाहिए, वे तो अपना पक्ष भी साफ नहीं कर पा रहे हैं। 

Todays Beets: