Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

वाड्रा-चिदंबरम से जितनी मर्जी पूछताछ करें, हमें आपत्ति नहीं, लेकिन पीएम को राफेल सौदे पर बोलना पड़ेगा - राहुल गांधी

अंग्वाल संवाददाता
वाड्रा-चिदंबरम से जितनी मर्जी पूछताछ करें, हमें आपत्ति नहीं, लेकिन पीएम को राफेल सौदे पर बोलना पड़ेगा - राहुल गांधी

नई दिल्ली । राफेल सौदे को लेकर एक अंग्रेजी अखबार के नए खुलासे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एक बार फिर से राफेल विमान सौदे को लेकर पीएम मोदी पर हमलावर हो गए हैं। राहुल गांधी ने कहा कि आप चाहे चिदंबरम और रॉबर्ट वाड्रा जितनी मर्जी हो उतनी जांच कर लो। हमें इस पर कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन प्रधानमंत्री को राफेल विमान सौदे पर कुछ बोलना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि हाल में अंग्रेजी अखबार के नए खुलासे से यह साबित हो गया है कि चौकीदार चोर है। राफेल विमान सौदे को लेकर पीएम मोदी और रक्षामंत्री निर्माला सीतारमण ने झूठ बोला था। इतना ही नहीं उन्होंने देश की जनता के साथ ही सुप्रीम कोर्ट में भी झूठ होला। असल में यह रक्षा मंत्रालय और कॉरपोरेट जगत के बीच की लड़ाई है। 

क्या कहा अंग्रेजी अखबार ने

असल में अंग्रेजी अखबार द हिंदू ने एक खुलासा करते हुए कहा कि राफेल विमान सौदे का रक्षा मंत्रालय ने विरोध किया था। बावजूद इसके पीएम ने सीधे तौर पर इस विमान डील में हस्तक्षेप किया। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की इस डील में दखल का फायदा फ्रांस को मिला। इस रिपोर्ट के आधार पर ही अब राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। उनका कहना है कि इस सब के चलते भारतीय वायुसेना को 30 हजार करोड़ का नुकसान हुआ। इतना ही नहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने यह पैसा चोरी कर अनिल अंबानी को दिए। इतना ही नहीं HAL की जगह अनिल अंबानी की कंपनी को डील दिलवाई गई।

मायावती को 'सुप्रीम' झटका, CJI बोले - अपनी और हाथियों की मूर्तियों पर जनता का जो पैसा लगाया उसे लौटाएं बसपा प्रमुख


मंत्रालय ने किया था जमकर विरोध

द हिंदू में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया कि हजारों करोड़ों की इस डील के लिए दोनों देशों के शीर्ष स्तर पर बातचीत चल रही थी, लेकिन इस दौरान पीएमओ लगातार इस डील में दखल किए हुए थी, जिसका रक्षा मंत्रालय ने जमकर विरोध किया था। इस सब के चलते मंत्रालय की ओर से बातचीत कर रही टीम हल्की पड़ गई। 

रॉबर्ट वाड्रा VS ED...पिक्चर अभी बारी है , शनिवार को ईडी फिर करेगी नए एंगल से पूछताछ

Todays Beets: