Thursday, November 23, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

यात्रीगण कृपया ध्यान दें...आरएसी-वेटिंग टिकट समेत रिजर्वेशन को लेकर रेलवे ने किए ये बदलाव...आपको मिली ये सहुलियतें

अंग्वाल न्यूज डेस्क

यात्रीगण कृपया ध्यान दें...आरएसी-वेटिंग टिकट समेत रिजर्वेशन को लेकर रेलवे ने किए ये बदलाव...आपको मिली ये सहुलियतें

 

 नई दिल्ली । रेलवे के यात्रीगण कृपया ध्यान दें... अपने टिकट की वेटिंग लिस्ट या आरएसी टिकट पर सीट कंफर्म करने के लिए अब यात्रियों को टीटीई की खोज में इधर-उधर भागने की जरूर नहीं होगी। रेलवे बोर्ड ने टीटीई और सुरक्षा बल के जवानों को आवंटित होने वाली सीटों की स्थिति नए सिरे से तय कर दी है। इस संबंध में रेलवे बोर्ड का आदेश भी डिविजन को मिल गया है। यात्रियों की शिकायतों पर ट्रेनों में सीटों के आवंटन की रिपोर्ट की समीक्षा के बाद नए सिरे से टीटीई और जवानों के लिए सीटें तय कर इसे सख्ती से लागू किया है।

ये भी पढ़ें- सस्ते होम लोन का टूटा 'रिकॉर्ड', महज 3.99 प्रतिशत पर होम लोन लें, सच करें अपने घर का सपना

यात्रियों की परेशानी के मद्देनजर लिया फैसला

प्राप्त जानकारी के अनुसार, वर्ष 2002 में रेलवे ने टीटीई के लिए ट्रेन में सीटें तय की थीं। लेकिन विक्रमशिला में जर्मनी तकनीक वाली लिंक हॉफमैन बुश (एलएचबी) कोच लग जाने के कारण टीटीई व सुरक्षाकर्मियों की सीट को लेकर काफी दिनों से गहमागहमी जारी थी। इससब के चलते रेलवे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में चलती ट्रेन में वेटिंग या आरएसी यात्रियों को सीट कंफर्म के लिए टीटीई को खोजने में काफी परेशानी होती थी। सुरक्षाकर्मियों की मदद के लिए भी यात्रियों को परेशान होना पड़ता था। ऐसे में रेलवे बोर्ड ने हर ट्रेन में सीटों के आवंटन की रिपोर्ट की समीक्षा के बाद नए सिरे से उनके लिए सीटों की संख्या तय कर दी है। 

ये भी पढ़ें- गुजरात चुनाव - दो बार से ज्यादा के विधायकों को टिकट नहीं देगी भाजपा, दिल्ली निकाय चुनावों की तर्ज पर बनाई रणनीति

चलिए अब जानते हैं कि किस ट्रेन में कहां मिलेगी टीटीई

1- सभी एक्सप्रेस ट्रेनों की स्लीपर क्लास में टीटीई के लिए 7 नंबर सीट आवंटित की गई है। 

2- जिन इंटरसिटी में स्लीपर कोच लगायी जाएगी, उसमें सीट नंबर-1  टीटीई की होगी।

3- ट्रेन को एस्कॉर्ट करने वाले आरपीएफ और जीआरपी जवानों के लिए सभी ट्रेनों की स्लीपर बोगी में एस-1 बोगी में सीट नंबर 63 होगी।

4- विक्रमशिला एक्सप्रेस की एसी फर्स्ट और एसी सेकंड के टीटीई ए-1 बोगी की सीट नंबर-5 पर मिलेंगे। 


5- विक्रमशिला व फरक्का एक्सप्रेस की एसी थर्ड और एसी थर्ड इकोनॉमी क्लास के टीटीई बी-1 व बीई-1 की 7 नंबर सीट पर मिलेंगे।

6- वहीं मालदा-पटना व बांका-दानापुर इंटरसिटी में आगे से हर एक बोगी के बाद सीट नंबर-1 पर टीटीई मिलेंगे।

7- भागलपुर-आनंद विहार गरीब रथ में जी-1, जी-3, जी-5 और जी-7 में टीटीई सात नंबर सीट पर रहेंगे। 

ये भी पढ़ें- आईटी की नजर अब शिवपाल के करीबियों पर, सिंचाई विभाग के इंजीनियर के ठिकानों पर छापेमारी में मिली 50 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति

स्लीपर वालों को एसी थ्री में मौका 

नई व्यवस्था के तहत अब ऑन लाइन टिकट वालों का 10 प्रतिशत ही रिजर्व टिकट अपग्रेड हो पाता था, लेकिन अब नई व्यवस्था के तहत स्लीपर श्रेणी के यात्रियों को एसी थ्री या चेयरकार श्रेणी में बैठने का मौका मिल सकेगा। इतना ही नहीं एसी थ्री वालों को एसी टू श्रेणी में सफर करने की भी सुविधा मिलेगी। इसी प्रकार एसी टू वालों को एसी वन में अपग्रेड कर दिया जा सकेगा। पहले यह सुविधा ऑनलाइन टिकट वालों को कम ही मिलती थी।

ये भी पढ़ें- दिल्ली के बाइक चालकों पर भी लागू होगा ऑड- इवन, NGT ने शर्तों के साथ दी मंजूरी

टीटीई खाली बर्थ को नहीं कर पाएंगे बुक

असल में पहले चार्ट बन जाने के बाद भी अगर स्लीपर व एसी में कोई बर्थ खाली रह जाती थी तो टीटीई उस सीट को मैनुअल बुक कर लेते थे। बुक नहीं कर सकते हैं। जबकि पहले यह प्रावधान था कि ट्रेन में खाली बर्थ को मैनुअल के आधार पर टीटीई बुक कर देते थे, लेकिन अब टीटीई से मैनुअल टिकट बुक करने का अधिकार छीन लिया गया है।

ये भी पढ़ें -लखनऊ लिटरेरी फेस्टिवल में कन्हैया कुमार की मौजूदगी से मचा बवाल, डीएम ने कार्यक्रम रद्द करने के दिए आदेश

रेलवे टिकट आरक्षण में भी बदलाव

इसके साथ ही रेलवे ने रिजर्वेशन के लिए कई तरह के बदलाव किए हैं। नए बदलाव में ऑनलाइन टिकट बुक कराने वालों को अब प्राथमिकता दी जाएगी। अगर पहले से खाली बर्थ है, तो काउंटर से रिजर्वेशन कराने वालों को कंफर्म टिकट नहीं मिलेगा, लेकिन ऑनलाइन टिकट बुक कराने वालों को कंफर्म रिजर्वेशन टिकट दिया जाएगा।

Todays Beets: