Thursday, January 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

खाताधारक कृप्या ध्यान दें, ‘सुनो आरबीआई क्या कहता है’ को न करें नजरअंदाज, धोखाधड़ी के हो सकते हैं शिकार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
खाताधारक कृप्या ध्यान दें, ‘सुनो आरबीआई क्या कहता है’ को न करें नजरअंदाज, धोखाधड़ी के हो सकते हैं शिकार

नई दिल्ली। बैंकों या फिर लोन के लिए आने मैसेज को हम अक्सर नजरअंदाज कर देते हैं और उन्हें डिलीट कर देते हैं। अगर रिजर्व बैंक की तरफ से आपके फोन पर ऐसे मैसेज आते हैं तो आप उसे नजरअंदाज न करें क्योंकि यह आपके फायदे के लिए है। दरअसल आरबीआई की तरफ से बैंकिंग क्षेत्र में हो रहे फर्जीवाड़े को रोकने के लिए ‘सुनो आरबीआई क्या कहता है’ के नाम से एक कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। इस प्रोग्राम के जरिए उसका मकसद आरबीआई के नाम पर किए जा रहे फर्जीवाड़े को रोकना है।

धोखाधड़ी से बचाने के उपाय

गौरतलब है कि इन दिनों उपभोक्ता के वित्तीय लेन-देन की जानकारी लेने के लिए अक्सर बैंकों से फोन, ई-मेल या मैसेज किए जा रहे हैं। उनके खाते में रकम जमा कराने और इनाम जीतने के नाम पर ग्राहकों से खाते के बारे में पूरी जानकारी ले ली जाती है और रकम निकाल ली जाती है। इस तरह के झूठे मैसेज या फिर ई-मेल से लोगों को सावधान करने के लिए रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया ने ‘सुनो आरबीआई क्या कहता है’ के नाम से एक प्रोग्राम की शुरुआत की है। इस कार्यक्रम के तहत केंद्रीय बैंक ऑनलाइन सेफ ट्रांजेक्शन करने और वित्तीय लेनदेन के दौरान होने वाली धोखाधड़ी से बचने को लेकर जानकारी दी जा रही है। बैंक खाताधारकों के मोबाइल पर उनके वित्तीय लेन-देन से संबंधित जानकारी किसी को न देने के लिए आगाह किया जा रहा है। 


ये भी पढ़ें -पर्यावरण सुरक्षा को लेकर एनजीटी ने अमरनाथ श्राइन बोर्ड को लगाई फटकार, मांगी रिपोर्ट

मिस्ड काॅल पर मिलेगी जानकारी

आपको बता दें कि आरबीआई ने ग्राहकों को अपने वित्तीय लेन-देन के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए एक नंबर 8691960000 भी जारी किया है। इस नंबर पर मिस्ड काॅल देकर आप जानकारी हासिल कर सकते हैं।  

Todays Beets: