Tuesday, December 11, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

ईएमआई चुकाने वालों को बड़ी राहत, आरबीआई ने रेपो और रिवर्स रेपो रेट में नहीं किया बदलाव

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ईएमआई चुकाने वालों को बड़ी राहत, आरबीआई ने रेपो और रिवर्स रेपो रेट में नहीं किया बदलाव

नई दिल्ली।  भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने अपने द्विमासिक समीक्षा कमेटी की बैठक बुधवार को समाप्त हो गई। इस बैठक में कमेटी ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में किसी तरह का बदलाव न करने का फैसला लिया है। कमेटी ने रेपो रेट पहले की ही तरह 6.5 और रिवर्स रेपो रेट 6.25 फीसदी ही रखने का फैसला लिया है। बताया जा रहा है कि महंगाई दर के कम होने की वजह से आरबीआई ने यह कदम उठाया है। गौर करने वाली बात है कि 20 नवंबर को आरबीआई बोर्ड की लंबी बैठक के बाद भी बैंकों की स्वायत्ता देने के मसले पर कोई फैसला नहीं हो पाया था। 

गौरतलब है कि आरबीआई के द्वारा रेपो और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं होने से लोन की ईएमआई चुकाने वालों को भी ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा। बता दें कि पिछले दिनों सरकार और आरबीआई के बीच बैंकों की स्वायत्ता को लेकर टकराव हो गया था। हालांकि बाद में सरकार की ओर से कहा गया था कि एक सीमा के अंदर बैंकों की स्वायत्ता को मंजूरी दी जा सकती है। 


ये भी पढ़ें - राजनीति से प्रेरित है मेरे खिलाफ जारी समन , पिछले साढ़े चार साल से जांच में सहयोग कर रहा हूं ...

यहां बता दें कि पिछले 3 दिनों से आरबीआई के अधिकारियों के बीच रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट को लेकर बैठक की जा रही थी। आज समीक्षा कमेटी ने महंगाई दर के कम होने की वजह से रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में किसी तरह का बदलाव नहीं करने का फैसला लिया है। आरबीआई के इस फैसले से उद्योग जगत को भी बड़ी राहत मिली है। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में जीडीपी के कम होकर 7.1 फीसद होने के बाद आर्थिक वृद्धि की रफ्तार को लेकर चिंताजनक स्थिति बनी हुई थी, जिसे आरबीआई ने दूर करने की कोशिश की है।

Todays Beets: