Thursday, May 24, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

लापता विधायकों के लिए दौड़ाए हेलीकॉप्टर, कांग्रेस ने विधायकों के लिए रिसॉर्ट में बुक हुए 120 कमरे, गुलाम नबी आजाद बोले- खूनी संघर्ष होगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लापता विधायकों के लिए दौड़ाए हेलीकॉप्टर, कांग्रेस ने विधायकों के लिए रिसॉर्ट में बुक हुए 120 कमरे, गुलाम नबी आजाद बोले- खूनी संघर्ष होगा

नई दिल्ली । कर्नाटक विधायक चुनावों के परिणामों के बाद सरकार बनाने के लिए जोड़-तोड़ की राजनीति शुरू हो गई है। जहां एक ओर कांग्रेसी नेता पाटिल ने दावा किया कि उनके संपर्क में भाजपा के 6 विधायक हैं, वहीं कांग्रेस ने अपनी बैठक से लापता रहने वाले अपने विधायकों की खोज के लिए हेलीकॉप्टर दौड़ा दिए हैं। दबी जुबान में कांग्रेस के कुछ विधायकों ने माना कि उनके कुछ विधायक पार्टी के संपर्क में नहीं है, जिन्हें खोजने के लिए  बिदर और कलबुर्गी में कुछ लोगों को हेलीकॉप्टर से भेजा गया है। हालांकि इस सब के बीच जहां भाजपा खुद को सबसे बड़ी पार्टी बताते हुए कई अन्य विधायकों के उनके साथ होने के संकेत दे रही है, वहीं कांग्रेस और जेडीएस का दावा है कि उनके पास पूर्ण बहुमत का नंबर है, लेकिन अपने विधायकों के 'लापता' होने की खबरों को वह अभी दबाने में लगी हुई है। इस सब के बीच कांग्रेस ने अपने विधायकों को किसी भी जोड़-तोड़ की राजनीति से दूर रखने के लिए एक रिसॉर्ट में कमरे बुक कर दिए हैं। वहीं जेडीएस के नेताओं का कहना है कि भाजपा ने उनके कुछ विधायकों को 100 करोड़ रुपये देने के साथ कैबिनेट में जगह देने का प्रलोभन दिया है।

 

कांग्रेस का 4 विधायकों से संपर्क नहीं

बता दें कि कांग्रेस ने खुद को चुनाव परिणामों में भाजपा से पिछड़ता देख, समय रहते जेडीएस को समर्थन देने का ऐलान कर दिया था, जिसके चलते कई कांग्रेसी नेता नाराज बताए जा रहे हैं। हालांकि आलाकमान के दबाव में अभी तक कोई भी मीडिया के सामने अपनी नाराजगी अभी तक जाहिर नहीं कर पाया है, कुछ ऐसा ही हाल जेडीएस के भी कुछ नेताओं का है जो कल तक कांग्रेस की झिड़की खाने के बाद अब उन्हें अपने साथ नहीं देखना चाहते। हालांकि राजनीति ने इस बार दोनों को एक ही छाते के नीचे खड़ा करते हुए सरकार के लिए कवायत को मजबूर कर दिया है। इस सब के बीच खबर है कि कांग्रेस के 4 विधायक पार्टी के संपर्क में नहीं है। इन्हें खोजने के लिए कुछ लोगों को हेलीकॉप्टर के साथ लगाया गया है, ताकि समय बर्बाद न हो। 

 

ये भी पढ़ें - कांग्रेस की बैठक से 'लापता' हुए कई विधायक, 78 में से पहुंचे सिर्फ 66, जेडीएस के भी 2 विधायक नहीं पहुंचे, क्या लग गई सेंध !

इग्लटन रिसॉर्ट में कमरे बुक


इस सब के इतर कांग्रेस ने इग्लटन रिसॉर्ट में अपने विधायकों के लिए कमरे बुक करवाए हैं। बताया जा रहा है कि 120 कमरे बुक कराए गए हैं। कांग्रेस अपने सभी विधायकों को सरकार बनने तक यहीं रखेंगी और पूर्व में राज्यसभा चुनावों की तर्ज पर किसी को भी इस दौरान बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी। हालांकि इसके साथ ही पार्टी की मंशा है कि कोई भी भाजपा के संपर्क में न आ पाए, और भाजपा भी इन लोगों से किसी प्रकार का कोई संपर्क नहीं कर पाए। 

 

ये भी पढ़ें - निर्माणाधीन चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर के बीम गिरे, कई वाहन नीचे दबे, 15 लोगों की मौत, 30 से ज्यादा घायल, सीएम ने किया मुआवजे का ऐलान

 

खूनी संघर्ष होगा  - आजाद

इस दौरान कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि भाजपा कांग्रेसी विधायकों को धमका रही है। वह उन पर पार्टी के खिलाफ फैसला लेने का दबाव बना रही है। ऐसे में अगर राज्यपाल ने संवैधानिक मूल्यों का पालन नहीं किया और हमें सरकार बनाने के लिए निमंत्रित नहीं किया, तो यहां खूनी संघर्ष होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस विधायकों के असंतुष्ट होने की अफवाहें फैलाई जा रही हैं, लेकिन वास्तव में भाजपा असंतुष्ट है। 

ये भी पढ़ें - भाजपा ने गोवा-मणिपुर में चला था जो दांव, कर्नाटक में उल्टा पड़ा गले , अब राज्यपाल अपने विवेक से देंगे सरकार बनाने का निमंत्रण

Todays Beets: