Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

मोदी सरकार का ‘संकटमोचक’ बनेगा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, किसानों की समस्या सुलझाने की कोशिश में जुटे नेता 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मोदी सरकार का ‘संकटमोचक’ बनेगा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, किसानों की समस्या सुलझाने की कोशिश में जुटे नेता 

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के लिए मुश्किल बन रहे किसानों को समझाने-बुझाने का जिम्मा संघ ने अपने कंधों पर ले लिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चिंताओं को कम करने के लिए आरएसएस के कार्यकर्ता किसानों के बीच अपनी गतिविधि तेज करेंगे। आने वाले दिनों में संघ के बड़े नेता किसानों के बीच विभिन्न माध्यमों से गतिविधि करते नजर आएंगे। बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मोदी के संकट मोचक की भूमिका के लिए अभी से अपनी रणनीति तैयार कर रहा है। 

ये भी पढ़ें - अमेरिका ने तालिबान सरगना मुल्ला फजलुल्ला के सिर पर रखा भारी इनाम, जानकारी देने वाले को मिलेंग...


गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेताओं ने सरकार की परेशानी में सबसे बड़ी परेशानी किसानों को माना है। भाजपा शासित राज्यों का मामला हो या केंद्र सरकार का, दोनों जगहों पर समस्या यही रही है कि किसानों के बीच उसकी छवि कमजोर हुई है। यहां बता दें कि केंद्र सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने के कई प्रयास किए हैं लेकिन उसका फायदा नजर नहीं आ रहा है। ऐसे में आने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर किसानों की समस्या को एक बड़ी चुनौती के रूप में देखा जा रहा है।  नागपुर में चल रही संघ की प्रतिनिधि सभा की बैठक में किसानों के बीच अधिक काम करने की योजना बनाई गई है।  

Todays Beets: