Monday, December 17, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

मोदी सरकार का ‘संकटमोचक’ बनेगा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, किसानों की समस्या सुलझाने की कोशिश में जुटे नेता 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मोदी सरकार का ‘संकटमोचक’ बनेगा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, किसानों की समस्या सुलझाने की कोशिश में जुटे नेता 

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के लिए मुश्किल बन रहे किसानों को समझाने-बुझाने का जिम्मा संघ ने अपने कंधों पर ले लिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चिंताओं को कम करने के लिए आरएसएस के कार्यकर्ता किसानों के बीच अपनी गतिविधि तेज करेंगे। आने वाले दिनों में संघ के बड़े नेता किसानों के बीच विभिन्न माध्यमों से गतिविधि करते नजर आएंगे। बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मोदी के संकट मोचक की भूमिका के लिए अभी से अपनी रणनीति तैयार कर रहा है। 

ये भी पढ़ें - अमेरिका ने तालिबान सरगना मुल्ला फजलुल्ला के सिर पर रखा भारी इनाम, जानकारी देने वाले को मिलेंग...


गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेताओं ने सरकार की परेशानी में सबसे बड़ी परेशानी किसानों को माना है। भाजपा शासित राज्यों का मामला हो या केंद्र सरकार का, दोनों जगहों पर समस्या यही रही है कि किसानों के बीच उसकी छवि कमजोर हुई है। यहां बता दें कि केंद्र सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने के कई प्रयास किए हैं लेकिन उसका फायदा नजर नहीं आ रहा है। ऐसे में आने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर किसानों की समस्या को एक बड़ी चुनौती के रूप में देखा जा रहा है।  नागपुर में चल रही संघ की प्रतिनिधि सभा की बैठक में किसानों के बीच अधिक काम करने की योजना बनाई गई है।  

Todays Beets: