Thursday, November 22, 2018

Breaking News

   ऑस्ट्रेलिया के PM मॉरिशन बोले- भारत दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्था     ||   पश्चिम बंगालः सिलीगुड़ी की तीस्ता नहर में 4 जिंदा मोर्टार सेल बरामद     ||   मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांडः कोर्ट ने मंजू वर्मा को 1 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा     ||   करतारपुर साहिब कॉरिडोर को मंजूरी देने पर CM अमरिंदर ने PM मोदी को कहा- शुक्रिया     ||   करतारपुर कॉरिडोर पर मोदी सरकार की मंजूरी के बाद बोला PAK- जल्द देंगे गुड न्यूज     ||   चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, कोर्ट में किया था सरेंडर     ||   MP में चुनाव प्रचार के दौरान शख्स ने BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला     ||   बेंगलुरु: गन्ना किसानों के साथ सीएम कुमारस्वामी की बैठक     ||   US में ट्रंप को कोर्ट से झटका, अवैध प्रवासियों को शरण देने से नहीं कर सकते इनकार    ||   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||

आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर से सेबी करेगा पूछताछ, दोषी साबित होने पर 35 करोड़ रुपये का जुर्माना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर से सेबी करेगा पूछताछ, दोषी साबित होने पर 35 करोड़ रुपये का जुर्माना

नई दिल्ली। आईसीआईसीआई बैंक और वीडियोकाॅन की धोखाधड़ी मामले में बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) उन्हें पूछताछ के लिए तलब कर सकता है। अगर उप पर दोष साबित होता है तो बैंक पर 25 करोड़ और चंदा कोचर पर 10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है। दोषी पाए जाने पर सेबी चंदा कोचर के एक बार फिर से बैंक की सीईओ बनने पर भी रोक लगा सकता है। 

गौरतलब है कि चंदा कोचर के पति दीपक कोचर की कंपनी में वीडियोकाॅन के मालिक वेणुगोपाल धूत ने निवेश किया था जिसके बाद आईसीआईसीआई बैंक ने उन्हें 3250 करोड़ का लोन दिया था। चंदा कोचर पर इस बात का आरोप है कि इस डील में उन्हें नियामकीय उल्लंघन किया है। चंदा कोचर के साथ सेबी बैंक के उन अधिकारियों को भी पूछताछ के लिए तलब कर सकता है जिन्होंने दीपक कोचर के नजदीकी होने का फायदा उठाया है। 

यहां बता दें कि आईसीआईसीआई बैंक का बोर्ड शुरू से ही इस बात से इंकार कर रहा है कि वीडियोकॉन को कर्ज देने में किसी तरह की गलती हुई है। बैंक अपनी तरफ से भी जस्टिस बी.एन. श्रीकृष्ण समिति से जांच करवा रहा है। गौर करने वाली बात है कि जांच पूरी होने तक बैंक ने चंदा कोचर को छुट्टी पर भेज दिया है। सेबी के अलावा रिजर्व बैंक, कंपनी मामलों के मंत्रालय और सीबीआई भी मामले की जांच कर रहे हैं। जांच में सेबी को कुछ भी गलत लगता है तो बैंक के ऊपर 25 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है। 


ये भी पढ़ें - LIVE - सफल हुआ कांग्रेस का भारत बंद! भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिलने पहुंचे पेट्रोलिमय मंत्री...

चंदा कोचर के फंसने की बड़ी वजह यह है कि सेबी के द्वारा पूछताछ में उन्होंने इस बात को स्वीकार किया है कि उनके पति और वीडियोकाॅन के मालिक वेणुगोपाल धूत के बीच कारोबारी रिश्ते थे। उन्होंने यह भी माना कि वे दोनों न्यूपावर के सह-संस्थापक और प्रवर्तक थे। इस खुलासे के बाद सेबी ने यह माना कि दोनों मंे हितों का टकराव हुआ है। 

Todays Beets: