Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

सुकमा के जंगल में सुरक्षाबलों ने 14 नक्सलियों को उतारा मौत के घाट, भारी मात्रा में हथियार भी बरामद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुकमा के जंगल में सुरक्षाबलों ने 14 नक्सलियों को उतारा मौत के घाट, भारी मात्रा में हथियार भी बरामद

नई दिल्ली। नक्सल प्रभावित राज्य छत्तीसगढ़ में सोमवार को सुरक्षाकर्मियों ने 14 नक्सलियों को मार गिराया है। बताया जा रहा है कि सुकमा जिले के गोलापल्ली इलाके में सोमवार की सुबह गश्त पर निकले सुरक्षाबलों पर नक्सलियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने भारी बारिश के बीच 14 नक्सलियों को मौत के घाट उतार दिया है। सुरक्षाबलों ने उनके कब्जे से भारी मात्रा में हथियार बरामद किया है। फिलहाल गोलीबारी बंद होने के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर सर्च आॅपरेशन तेज कर दिया है। 

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ का सुकमा इलाके बुरी तरह से नक्सलियों से प्रभावित रहा है। सोमवार को सुरक्षाबलों के साथ हुए एनकाउंटर में 14 नक्सलियों को मौत के घाट उतार दिया गया है। सुरक्षाबलों के गश्तीदल पर हमला करने के बाद जवाबी कार्रवाई में ये सभी मारे गए हैं। स्थानीय खबरों के अनुसार करीब 200 नक्सलियों ने भारी हथियार के साथ सुरक्षाबलों पर हमला बोल दिया। 

ये भी पढ़ें - जम्मू पुलिस ने दिल्ली को दहलाने की साजिश को किया नाकाम, आतंकी को 8 ग्रेनेड के साथ किया गिरफ्तार 


यहां बता दें कि सुरक्षाबलों को खुद पर भारी पड़ता हुआ देखकर नक्सली वहां से भाग खड़े हुए। गौर करने वाली बात है कि छत्तीसगढ़ में इन दिनों भारी बारिश हो रही है। भारी बारिश के दौरान ही सुरक्षाबलों ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है। गौर करने वाली बात है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री डाॅक्टर रमन सिंह 2022 तक राज्य को पूरी तरह से नक्सल मुक्त करने की बात कह चुके हैं। 

नक्सलियों की कम होती तादाद का कारण बड़ी संख्या में उनका आत्मसमर्पण करना भी है। बस्तर के कई इलाके में इनामी नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। बता दें कि एंटी नक्सल आॅपरेशन के मुखिया ने बताया कि बस्तर जिले में पिछले कुछ समय में भारी तादाद में जानोमाल का नुकसान हुआ है। 

इसके पहले सरकार लगातार यह कहती रही है कि नक्सली हथियार छोड़कर यदि मुख्यधारा में शामिल होना चाह रहे हों तो सरकार बातचीत के लिए तैयार है। हालांकि अब छत्तीसगढ़ सरकार ने अपनी नीति बदल दी है। 

Todays Beets: