Thursday, July 19, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

जम्मू कश्मीर में सरकार गिरते ही आतंकियों और अलगाववादियों पर कसा शिकंजा, यासीन मलिक लिए गए हिरासत में

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जम्मू कश्मीर में सरकार गिरते ही आतंकियों और अलगाववादियों पर कसा शिकंजा, यासीन मलिक लिए गए हिरासत में

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में भाजपा-पीडीपी गठबंधन वाली सरकार के गिरने के बाद आतंकियों के साथ अलगाववादी नेताओं पर सुरक्षाबलों ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। घाटी में हाल के दिनों में हुई हत्याओं के विरोध में गुरुवार को जम्मू कश्मीर बंद का आह्वान करने वाले अलगाववादी नेता यासीन मलिक को पुलिस से सुरक्षा व्यवस्था बिगड़ने के आसार को देखते हुए उन्हें हिरासत में ले लिया है। इसके बाद ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि आने वाले समय में अन्य अलगाववादी नेताओं पर भी पुलिस अपना शिकंजा कस सकती है। 

गौरतलब है कि राज्य में सरकार के गिरने के बाद वहां राज्यपाल शासन लगा दिया गया है। राज्यपाल शासन के लागू होते ही, राज्यपाल एनएन वोहरा एक्शन में आ गए हैं। उन्होंने सेना और पुलिस अधिकारियों के साथ राज्य के बड़े अधिकारियों के साथ बैठक की है। गुरुवार को अलगाववादी नेताओं के द्वारा बुलाए गए बंद के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था में कोई खलल न पैदा हो इसके लिए एहतियात के तौर पर अलगाववादी नेता यासीन मलिक को हिरासत में ले लिया है। 

ये भी पढ़ें - पाम्पोर में पुलिस टीम पर हमला, 1 जवान शहीद 2 घायल, यासीन मलिक हिरासत में


बता दें कि राज्यपाल एनएन वोहरा का कार्यकाल जल्द ही खत्म होने वाला है। ऐसे में वहां आतंकियों के प्रति तल्ख तेवर रखने वाले सेना के सेवानिवृत्त मेजर जनरल जीडी बख्शी को राज्यपाल बनाए जाने की खबरें भी सामने आई है। वहीं लेफ्टिनेंट जनरल दीपेंद्र सिंह हुड्डा का नाम भी सामने आया है। गौर करने वाली बात है कि जनरल बख्शी और दीपेंद्र हुड्डा दोनों को ही जम्मू कश्मीर का विशेषज्ञ माना जाता है। ऐसे में अगर उनकी राज्यपाल के तौर पर नियुक्ति होती है तो आतंकियों की खैर नहीं होगी।   

 

 

Todays Beets: