Friday, September 21, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

शशांक मनोहर निर्विरोध चुने गए आईसीसी के चेयरमैन, अगले 2 सालों तक संभालेंगे जिम्मेदारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शशांक मनोहर निर्विरोध चुने गए आईसीसी के चेयरमैन, अगले 2 सालों तक संभालेंगे जिम्मेदारी

नई दिल्ली। बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष शशांक मनोहर एक बार फिर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के चेयरमैन बन गए हैं। उन्हें दूसरे कार्यकाल के लिए निर्विरोध चुना गया है। बता दें कि शशांक मनोहर को साल 2016 में पहली बार आईसीसी का स्वतंत्र चेयरमैन चुना गया था और अब निर्विरोध निर्वाचित होने के बाद वह अगले 2 सालों तक इस पद की जिम्मेदारी संभालना जारी रखेंगे।

गौरतलब है कि आईसीसी के अध्यक्ष की चुनावी प्रक्रिया के अनुसार, आईसीसी निदेशकों में से प्रत्येक को एक उम्मीदवार को नामित करने की अनुमति होती है। उम्मीदवार वर्तमान या पूर्व आईसीसी निदेशक होना चाहिए। जिस नामित को 2 या इससे अधिक निदेशकों का समर्थन मिलता है वह चुनाव लड़ने के योग्य माना जाता है।

ये भी पढ़ें - निशानेबाज हिना सिद्धू ने एक फिर दिखाया अपना दम, अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में जीता गोल्ड


यहां गौर करने वाली बात है कि शशांक मनोहर के मामले में यह स्थिति बिल्कुल अलग बनी और नामित किए जाने वाले वह अकेले उम्मीदवार बने। चुनाव प्रक्रिया को देख रहे ऑडिट कमेटी के चेयरमैन एडवर्ड क्विनलैन ने प्रक्रिया पूर्ण होने और मनोहर के सफल उम्मीदवार होने की घोषणा की। बताया जा रहा है कि मनोहर का आईसीसी अध्यक्ष बनना कोलकाता बैठक में ही तय हो गया था क्योंकि किसी ने उनका विरोध नहीं किया था। 

बता दें कि शशांक मनोहर ने अपने कार्यकाल के दौरान कई महत्वपूर्ण सुधार किए थे, उन्होंने 2014 के प्रस्ताव को पलट दिया था। संशोधित शासन ढांचा लागू किया, जिसमें आईसीसी की पहली स्वतंत्र महिला निदेशक की नियुक्ति भी शामिल है। दोबारा अध्यक्ष बनाए जाने पर शशांक मनोहर ने आईसीसी के सभी निदेशकों का आभार जताया है। 

 

Todays Beets: