Sunday, July 22, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

शशांक मनोहर निर्विरोध चुने गए आईसीसी के चेयरमैन, अगले 2 सालों तक संभालेंगे जिम्मेदारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शशांक मनोहर निर्विरोध चुने गए आईसीसी के चेयरमैन, अगले 2 सालों तक संभालेंगे जिम्मेदारी

नई दिल्ली। बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष शशांक मनोहर एक बार फिर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के चेयरमैन बन गए हैं। उन्हें दूसरे कार्यकाल के लिए निर्विरोध चुना गया है। बता दें कि शशांक मनोहर को साल 2016 में पहली बार आईसीसी का स्वतंत्र चेयरमैन चुना गया था और अब निर्विरोध निर्वाचित होने के बाद वह अगले 2 सालों तक इस पद की जिम्मेदारी संभालना जारी रखेंगे।

गौरतलब है कि आईसीसी के अध्यक्ष की चुनावी प्रक्रिया के अनुसार, आईसीसी निदेशकों में से प्रत्येक को एक उम्मीदवार को नामित करने की अनुमति होती है। उम्मीदवार वर्तमान या पूर्व आईसीसी निदेशक होना चाहिए। जिस नामित को 2 या इससे अधिक निदेशकों का समर्थन मिलता है वह चुनाव लड़ने के योग्य माना जाता है।

ये भी पढ़ें - निशानेबाज हिना सिद्धू ने एक फिर दिखाया अपना दम, अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में जीता गोल्ड


यहां गौर करने वाली बात है कि शशांक मनोहर के मामले में यह स्थिति बिल्कुल अलग बनी और नामित किए जाने वाले वह अकेले उम्मीदवार बने। चुनाव प्रक्रिया को देख रहे ऑडिट कमेटी के चेयरमैन एडवर्ड क्विनलैन ने प्रक्रिया पूर्ण होने और मनोहर के सफल उम्मीदवार होने की घोषणा की। बताया जा रहा है कि मनोहर का आईसीसी अध्यक्ष बनना कोलकाता बैठक में ही तय हो गया था क्योंकि किसी ने उनका विरोध नहीं किया था। 

बता दें कि शशांक मनोहर ने अपने कार्यकाल के दौरान कई महत्वपूर्ण सुधार किए थे, उन्होंने 2014 के प्रस्ताव को पलट दिया था। संशोधित शासन ढांचा लागू किया, जिसमें आईसीसी की पहली स्वतंत्र महिला निदेशक की नियुक्ति भी शामिल है। दोबारा अध्यक्ष बनाए जाने पर शशांक मनोहर ने आईसीसी के सभी निदेशकों का आभार जताया है। 

 

Todays Beets: