Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

योगीजी शहरों के नाम बदलने में जुटे, पहले अपने राज्य की स्थिति को संभालें- शिवसेना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
योगीजी शहरों के नाम बदलने में जुटे, पहले अपने राज्य की स्थिति को संभालें- शिवसेना

नई दिल्ली। उत्तरप्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी के नाम पर हुई हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर और एक युवक की हत्या पर शिवसेना ने गुरुवार को सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमला किया है। शिवसेना के मुखिया उद्धव ठाकरे ने मुखपत्र सामना में लिखे संपादकीय में कहा है कि योगी आदित्यनाथ शहरों के नाम बदलने में जुटी हुई है जबकि उनके खुद के राज्य में लगातार हिंसा हो रही है और उस पर सरकार का कोई ध्यान नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर भी योगी सरकार से सवाल पूछा है।

गौरतलब है कि बुलंदशहर में 3 दिसंबर को गोकशी के मामले में जमा हुए भीड़ को नियंत्रित करने गए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की उग्र भीड़ ने हत्या कर दी थी। भीड़ में गोली चलने से एक स्थानीय युवा सुमित कुमार की भी मौत हो गई है। बुलंदशहर में हुई घटना को लेकर शिवसेना ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री दूसरे राज्यों में जाकर वहां के नाम बदलने की तैयारी कर रहे हैं लेकिन वह अपने राज्य पर ध्यान नहीं दे रही है।

ये भी पढ़ें - भाजपा सांसद सावित्री बाई फूले ने पार्टी से दिया इस्तीफा, भाजपा पर लगाए लोगों को बांटने के आरोप


यहां बता दें कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बुलंदशहर के अलावा अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर भी योगी सरकार से सवाल पूछा मंदिर का निर्माण कब तक किया जाएगा। सामना ने अपने संपादकीय में सवाल किया है, ‘उनके समक्ष खड़ा प्रश्न इतिहास से जुड़ा है जबकि वह जवाब भूगोल से जुड़ा हुआ दे रहे हैं। प्रश्न यह नहीं है कि हैदराबाद कब भाग्यनगर बनेगा, बल्कि यह है कि राम मंदिर कब बनेगा।’   

 

Todays Beets: