Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

शिया वक्फ बोर्ड ने बाबरी मस्जिद को बताया कलंक, दिया ऐसा बयान कि संतों ने लगाए जयश्रीराम के नारे, कट्टरपंथी हुए नाराज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिया वक्फ बोर्ड ने बाबरी मस्जिद को बताया कलंक, दिया ऐसा बयान कि संतों ने लगाए जयश्रीराम के नारे, कट्टरपंथी हुए नाराज

लखनऊ । आगामी लोकसभा चुनावों से पहले एक बार फिर से राम मंदिर मुद्दा सुर्खियों में आ गया है। एक ओर जहां अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर साधु संतों ने मुहिम तेज कर दिया है। वहीं उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड भी राम मंदिर के निर्माण को लेकर सक्रिय हो गया है। बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने इस बार रामलला के मंदिर और बाबरी मस्जिद को लेकर ऐसा बड़ा दे डाला है कि रामंदिर के पक्षकारों का चेहरा खिल गया है। रिजवी ने विवादित ढांचे को लेकर कहा कि 'हिंदुस्तान की जमीन पर कलंक है बाबरी ढांचा'। बाबरी मस्जिद मंदिरों को तोड़कर बनाई गई ऐसी स्थिति में बाबरी को जायज मस्जिद कहना इस्लाम के सिद्धांतों के विपरीत है।  उन्होंने कहा कि समझौता कर मंदिर बनाने का रास्ता साफ होना चाहिए और लखनऊ में अलग से अमन की मस्जिद बनाई जानी चाहिए।

मस्जिद कहना गुनाहे अजीम

उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष रिजवी ने इस दौरान कहा कि बाबरी मस्जिद जहां एक कलंक हैं, वहीं इस कलंक को मस्जिद कहना गुनाहे अजीम है ।  इस मस्जिद के नीचे की खुदाई 137 मजदूरों ने की थी, जिनमें 52 मुसलमान थे।  उन्होंने दावा किया कि खुदाई के दौरान 50 मंदिर के स्तंभों के नीचे के भाग में ईंटों का बनाया गया चबूतरा मिला था, जिसमें मंदिर से जुड़े कुल 265 पुराने अवशेष मिले थे। इसी के आधार पर भारतीय पुरातत्व विभाग इस निर्णय पर पहुंचा था कि ऊपरी सतह पर बनी बाबरी मस्जिद के नीचे एक मंदिर दबा हुआ है। सीधे तौर पर माना जाए कि बाबरी इन मंदिरों को तोड़कर इनके मलबे पर बनाई गई है।

अनशन पर बैठे संत की चेतावनी, 2 दिन बाद लाखों संतों के साथ करेंगे मंदिर निर्माण को कूच 

मैं भारतीय हूं का किया जिक्र

रिजवी ने अपनी बात रखते हुए इस दौरान  केके मोहम्मद द्वारा लिखी किताब 'मैं भारतीय हूं' का भी जिक्र किया।  उन्होंने कहा मैंने जो भी कहा है उसका उल्लेख केके मोहम्मद द्वारा लिखी किताब 'मैं भारतीय हूं' में हैं। वह बोले-  अभी भी वक्त है बाबरी मुल्ला अपने गुनाहों की तौबा करें और पैगंबर मुहम्मद के इस्लाम को मानें। 

राफेल भ्रष्टाचार पर कैग का कांग्रेस को दो टूक, कहा- सिर्फ आरोपों से जांच नहीं होती, सबूत पेश करें


अंतरराष्ट्रीय कट्टरपंथी बना रहे दबाव

विदित हो कि इससे पहले रिजवी ने अयोध्या में राम मंदिर बनाए जाने के मामले में बोर्ड का दावा वापस लेने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कट्टरपंथी मुस्लिमों द्वारा दबाव बनाए जाने का आरोप लगाया था।  शिया वक्फ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या में राम मंदिर बनाए जाने का समर्थन करने का हलफनामा दिया है। 

 यूपी के बागपत में वायुसेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त, दोनों पायलट सुरक्षित, जानमाल का नुकसान नहीं

2 दिन में संत मंदिर निर्माण के लिए कूच करेंगे

वहीं मंदिर निर्माण को लेकर साधु संतों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर जल्द से जल्द मंदिर निर्माण शुरू करवाने के लिए कहा है। जल्द निर्माण को लेकर अनशन पर बैठे संत राम परमहंस दास ने शुक्रवार को कहा कि 2 दिनों के बाद लाखों संतों के साथ मंदिर निर्माण के लिए कूच करेंगे। मंदिर निर्माण को लेकर विश्व हिन्दू परिषद से जुड़े संतों की उच्चाधिकार समिति की शुक्रवार को बैठक हो रही है। गौर करने वाली बात है कि एनडीए की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने भी राममंदिर के निर्माण पर भाजपा पर निशाना साधा है।  

आम लोगों को लग सकता है महंगाई का एक और झटका, ब्याज दरों में होगी बढ़ोतरी!

Todays Beets: