Thursday, November 22, 2018

Breaking News

   ऑस्ट्रेलिया के PM मॉरिशन बोले- भारत दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्था     ||   पश्चिम बंगालः सिलीगुड़ी की तीस्ता नहर में 4 जिंदा मोर्टार सेल बरामद     ||   मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांडः कोर्ट ने मंजू वर्मा को 1 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा     ||   करतारपुर साहिब कॉरिडोर को मंजूरी देने पर CM अमरिंदर ने PM मोदी को कहा- शुक्रिया     ||   करतारपुर कॉरिडोर पर मोदी सरकार की मंजूरी के बाद बोला PAK- जल्द देंगे गुड न्यूज     ||   चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, कोर्ट में किया था सरेंडर     ||   MP में चुनाव प्रचार के दौरान शख्स ने BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला     ||   बेंगलुरु: गन्ना किसानों के साथ सीएम कुमारस्वामी की बैठक     ||   US में ट्रंप को कोर्ट से झटका, अवैध प्रवासियों को शरण देने से नहीं कर सकते इनकार    ||   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||

विमानों के दुर्घटनाग्रस्त होने के पीछे सोशल मीडिया का इस्तेमाल जिम्मेदार- वायुसेना प्रमुख

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विमानों के दुर्घटनाग्रस्त होने के पीछे सोशल मीडिया का इस्तेमाल जिम्मेदार- वायुसेना प्रमुख

नई दिल्ली। वायुसेना के विमानों के लगातार दुर्घटनाग्रस्त होने को लेकर वायुसेना प्रमुख ने एक बड़ा बयान दिया है। एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने बंगलुरु इंडियन सोसायटी ऑफ एयरोस्पेस मेडिसिन के 57वें सम्मेलन में कहा कि पायलटों के सोशल मीडिया की लत की वजह से विमान दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि देर रात तक सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने की वजह से उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती है ऐसे में विमान उड़ाने पर उसके दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना ज्याद बढ़ जाती है। 

गौरतलब है कि एयर चीफ मार्शल धनोआ ने यहां इंडियन सोसायटी ऑफ एयरोस्पेस मेडिसिन के 57वें सम्मेलन में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी देर रात तक कई घंटे सोशल मीडिया पर बिताते दिखते हैं। कई बार उड़ान से पहले की ब्रीफिंग सुबह 6 बजे होती है और तब तक पायलट ठीक से नींद नहीं ले पाते हैं।


ये भी पढ़ें - तेलंगाना में जमकर ‘केसीआर’ पर बरसे भाजपाध्यक्ष, कहा- जबर्दस्ती चुनाव थोपने वालों की नहीं बनेग...

यहां बता दें कि वायुसेना प्रमुख ने कहा कि एक ऐसे सिस्टम की जरूरत है जिससे इस बात का पता चल पाए कि पायलटों की नींद पूरी हुई है या नहीं। उन्होंने साल 2013 में राजस्थान के बाड़मेड़ में दुर्घटनाग्रस्त हुए मिग 21 का उदाहरण देते हुए कहा कि पायलट के कई दिनों से पूरी नींद नहीं लेने की वजह से यह दुर्घटना हुई थी। 

Todays Beets: