Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

संसद में सोनिया गांधी के हाथ कांपते दिखे...पर जारी रखा संघ पर हमला करना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
संसद में सोनिया गांधी के हाथ कांपते दिखे...पर जारी रखा संघ पर हमला करना

नई दिल्ली । कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी लंबे समय बाद बुधवार को संसद में बोलती नजर आई। भरत छोड़ो आंदोलन की 75वीं सालगिरह के मौके पर एक पत्र लेकर खड़ी हुई सोनिया गांधी ने इस दौरान इशारों ही इशारों में संघ पर जमकर हल्ला बोला। उन्होंने कहा कि गांधी जी साप्रदायिकता के खिलाफ थे लेकिन आज कुछ सांप्रयायिक ताकतें काम कर रही हैं। आजादी के लिए जब भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत हुई तो उस दौरान भी एक गुट ऐसा था जो इस आंदोलन का विरोध कर रहे थे। उन्होंने संघ पर हमलावर अंदाज में कहा कि आजादी के आंदोलन का विरोध करने वालों की इस आजादी में कोई सहयोग नहीं रहा है।

अंधकार फैलाने वाली शक्तियां हावी

बता दें कि  भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं सालगिरह के मौके पर संसद में पीएम नरेंद्र मोदी ने बयान दिया। इसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी संसद में बोलने के लिए खड़ी हुई। उन्होंने इस दौरान कहा कि जब हम आजादी के आंदोलन की 75वीं सालगिरह मना रहे है, तब लोगों के मन में कई संशय भी हैं। विकास के बजाए अंधकार फैलाने वाली शक्तियां हमारे बीच तेजी से पनप रही हैं। जहां आदाजी का माहौल था वहां आज भय फैल रहा है। हमें हर तरह की दमनकारी शक्तियों से लड़ना है। 

कांग्रेस और नेहरू पर केंद्रित रहा संबोधन


अपने संबोधन को सोनिया गांधी ने कांग्रेस और नेहरू परिवार के इर्द-गिर्द ही रखा, जिसका सत्ता पक्ष के लोगों ने विरोध भी किया। संसद में सालगिरह का जश्न मनाने के दौरान सोनिया गांधी ने कहा कि जवाहर लाल नेहरू ने जेल में सबसे ज्यादा समय बिताया। जिन कांग्रेसियों ने उस दौरान देश को आजाद कराने में शहादत दी। 

कंपकंपाते दिख रहे थे सोनिया के हाथ

संसद में अपने संबोधन के दौरान सोनिया गांधी ने हाथ में एक लिखित बयान पकड़ा हुआ था, जिसे देखकर वह पढ़ रही थी। अपने बयान के दौरान सोनिया गांधी काफी असहज दिखाई दी और उनके हाथ लगातार कंपकंपाते से नजर आ रहे थे। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस दौरान कहा कि उनके दिया गया बयान सत्ताधारी पार्टी के खिलाफ उनका गुस्सा लग रहा था। जश्न के ऐसे मौके पर उन्हें देश के विकास की बातें करनी चाहिए थी लेकिन सोनिया गांधी संघ और सत्ताधारी पार्टी पर अपनी नाराजगी का इजहार करती नजर आईं।

Todays Beets: